मेरठ, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद से प्रवासी मजदूरों का पलायन, बस अड्‌डों पर उमड़ी भीड़

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
नोएडा. कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच एक बार फिर से मार्च और अप्रैल 2020 वाली स्थिति में पूरा एनसीआर आकर खड़ा हो गया है। दिल्ली में कर्फ्यू और मेरठ में दो दिन के साप्ताहिक लॉकडाउन की घोषणा के बाद से एनसीआर के शहर मेरठ, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद से प्रवासियों (Migrant Workers) का पलायन शुरू हो चुका है। गत सोमवार से मेरठ के अलावा गाजियाबाद और नोएडा बस डिपो, नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, आनंद विहार बस अड्डा से पलायन करने वालों की भारी भीड़ देखी जा रही है। बुधवार को भी सुबह से मेरठ के भैसाली बस स्टैंड पर पूर्वी उत्तर प्रदेश तथा बिहार आदि स्थानों में जाने वालों की भीड़ नजर आई है। इस दौरान एक बार फिर सोशल डिस्टेंसिंग कहीं नजर नहीं आ रही है। लोगों का कहना है वह किसी भी तरह अपने घर पहुंचना चाहते हैं, क्योंकि सरकार का कोई भरोसा नहीं कि कब पूर्ण लॉकडाउन लगा दे।

यह भी पढ़ें- बड़ी लापरवाही: कब्रिस्तान में दफन हुए रामप्रताप तो चिता पर पहुंचा नासिर का शव

मेरठ समेत एनसीआर के सभी बस अड्डे पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ जमा है। कोरोना वायरस एक बार फिर बेकाबू होता जा रहा है। पूरा एनसीआर एक बार फिर कोरोना वायरस की चपेट में है, जिसे देखते हुए दिल्ली में एक सप्ताह के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है, वहीं यूपी सरकार ने शनिवार और रविवार का वीकेंड लॉकडाउन लागू कर दिया है। लोगों को डर है कि इसे आगे बढ़ाया गया तो रोजी-राेटी का संकट खड़ा हो जाएगा। इसी वजह से बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रवासी कामगारों ने एनसीआर से पलायन शुरू कर दिया। मेरठ के भैसाली बस अड्डे में सैकड़ों की संख्या में प्रवासी मौजूद हैं। बसें कम पड़ गई हैं। लोग और बसें मंगाने की मांग कर रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा है। लोगों को बस किसी भी तरह अपने घर वापस लौटने की जल्दी है। उन्होंने कहा कि सरकार का कोई भरोसा नहीं है कि कब पूर्ण लॉकडाउन लगा दे। वहीं, उन्हें भी अब कोरोना का डर सता रहा है। उनका कहना है कि जब जान ही नहीं रहेगी तो काम क्या करेंगे।

वहीं, पुलिस और प्रशासन भी अलर्ट मोड पर हैं। एसएसपी अजय साहनी ने कहा कि प्रवासियों के पलायन की सूचना मिलने के बाद हम लोगों ने बैठक की है। नेशनल हाईवे और एक्सप्रेसवे सामान्य यातायात के लिए खुले हुए हैं। किसी भी तरह की परेशानी लोगों को नहीं होने दी जाएगी। मेरठ में सभी ट्रैवलिंग पॉइंट्स पर पुलिस नजर बनाकर रखे हुए है।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस के चलते रेलवे ने रद्द कीं 18 ट्रेनें, कहीं आपने भी तो नहीं कराया इनमें टिकट, देखें पूरी लिस्ट