रैपिड रेल: अक्टूबर से भूमिगत टनल मशीन शुरू करेगी जमीन के नीचे खुदाई

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। महानगर में रैपिड रेल (rapid rail) के निर्माण ने गति पकड़ ली है। इसके लिए तेजी से काम चल रहा है। जिससे तय समय पर कट एंड कवर विधि से भूमिगत टनल (tunnel) खुदाई की शुरुआत हो सके। सदर तहसील से भैसाली बस अड्डा कार्यशाला तक को समतल करने काम पूरा हो चुका है। इससे यातायात पर किसी प्रकार का कोई असर नहीं पड़ने वाला है। दरअसल, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम के अधिकारियों के अनुसार टनल मशीन अक्तूबर में आएगी और जमीन के नीचे उतार दी जाएगी। जिसके बाद खुदाई का काम शुरू हो जाएगा। इससे पहले भूमिगत स्टेशन का कार्य कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Rapid Rail में खास तकनीक का होगा इस्तेमाल, ब्रेक लगने पर बनेगी बिजली, जानिये और भी खासियत

बता दें कि शहर में बेगमपुल, भैसाली, मेरठ सेंट्रल स्टेशन को भूमिगत बनाया जाना है। इन तीन स्थानों पर स्थान बनाया जा रहा है। अक्तूबर से पहले सभी कार्य पूरे किए जा सके। इसी क्रम में बेगमपुल पर यातायात डायवर्ट कर दिया गया है, जिससे भूमिगत टनल के लिए स्थान और स्टेशन निर्माण को शुरू किया जा सके। भूमिगत स्टेशन के लिए बेगमपुल और गांधी बाग के आगे की जमीन के लिए रक्षा मंत्रालय से मंजूरी जरूरी थी जिसको अब हरी झंडी मिल गई है। लगभग चार एकड़ जमीन के लिए रक्षा मंत्रालय की मंजूूरी का इंतजार था। अब स्थानीय सेना और कैंट बोर्ड को अनुमति देनी है। इसके लिए अब जल्द मंजूरी मिल जाएगी। जिसके बाद इन स्थानों पर बैरिकेडिंग कर कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: कानपुर और लखनऊ के बीच रैपिड रेल चलाने की कवायद शुरू, बहुत कम समय में आसान होगा सफर

रिठानी में सड़क चौड़ीकरण शुरू

शताब्दीनगर क्षेत्र में पिलर खड़े हो गए है। औद्योगिक क्षेत्र के पास रैपिड रेल के पिलर खड़े हो गए हैं। अब मेरठ शहर की तरफ रिठानी में सड़क चौड़ीकरण कार्य शुरू कर दिया गया है, जिससे तय समय पर यहां भी बीच सड़क पर बैरिकेडिंग कर पिलर निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाए। रैपिड रेल के कार्य का सुपरविजन करने वाले सोहन लाल ने बताया कि अभी तक कार्य अपने तय समय के अनुसार ही चल रहा है। महानगर में रैपिड प्रोजेक्ट के काम में तेजी आई है।