छत्तीसगढ़ में हुए हमले के विरोध में विद्यार्थी परिषद ने नक्सलियों का फूंका पुतला, डीएम को सौंपा ज्ञापन

सीतापुर. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए वीर जवानों के विरोध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने नक्सलियों का पुतला फूंककर विरोध प्रदर्शन किया और विभिन्न मांगों को लेकर भारत के गृहमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से सौंपा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी और नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत सरकार से कड़ा कदम उठाने का सिफारिश भी की है।

एबीवीपी का प्रदर्शन

दरअसल बीती 3 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के बीजापुर इलाके में नक्सलियों ने योजनाबद्ध तरीके से सेना के काफिले पर कायराना ताबड़तोड़ हमला किया था। इस नक्सली हमले में भारत देश के 23 वीर सपूतों वीरगति को प्राप्त हुए थे और नक्सलियों ने हमले के बाद शवों के साथ बर्बरता पूर्ण व्यवहार करके हथियार और अन्य जरूरी सामान लूट लिया था। इस हमले के बाद देश के हर एक व्यक्ति को झकझोर कर रख दिया था और वहां का मंजर देखकर हर व्यक्ति के आंखों में आंसू थे।

नक्सलियों का फूंका पुतला

इसी घटना के विरोध में सीतापुर के अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्यों ने नक्सलियों का एक पुतला शहर के मुख्य चौराहे पर पुतला फूंका और जमकर नारेबाजी भी की। इस पुतला दहन विरोध प्रदर्शन के बाद विद्यार्थी परिषद ने गृहमंत्री अमित शाह को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी सीतापुर के माध्यम से सौंपा। विद्यार्थी परिषद के सदस्यों का कहना हैं कि उनकी देश के गृह मंत्री से यह मांग है कि इस हमले के विरोध में भारतीय सेना द्वारा नक्सलियों को मुहं तोड़ जवाब देना चाहिए और इन्हें शरण देने वाले शरणार्थियों को भी ढूंढ कर सजा दिलायी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद ऐसी घटनाओ की निंदा करता था और देश के गृहमंत्री से यह मांग करता हैं कि सेना के जवानों की कुर्बानी व्यर्थ नही जानी चाहिए और समय रहते देश से नक्सलियों और नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ फेखना चाहिए।