चुनाव में खलल डाल सकते है जेल में बंद सात अपराधी, दूसरे जेल में शिफ्ट करने की तैयारी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. जेेल में बंद अपराधी पुलिस के लिए चुनौती बने हुए है। कई बड़े अपराधियों को दूसरी जेल में शिफ्ट करने के बाद भी पंचायत चुनाव में खलल का खतरा बना हुआ है। पुलिस व जिला प्रशासन ने जेल में बंद सात ऐसे अपराधियों को चिन्हित किया है। अब इन्हें दूसरे जेल में भेजने की तैयारी चल रही है। इन बंदियों के ट्रांसफर के लिए डीएम और एसपी की तरफ से शासन को रिपोर्ट भेजी जा चुकी है। शासन से अनुमति मिलते ही इन्हें दूसरी जेलों में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

बता दें कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में हमेशा से माफिया व बदमाशों का हस्तक्षेप रहा है। अखंड प्रताप सिंह, ध्रुव कुमार सिंह कुंटू सहित कई अपराधी चुनाव को प्रभावित करते रहे है। जिले में दर्जन भर ऐसी सीटें है जिनपर ये अपराधी अपने ब्लाक प्रमुख व जिला पंचायत सदस्य बनाते रहे है। अजीत सिंह हत्या कांड में नाम आने के बाद अंखड प्रताप सिंह, कुंटू सिंह को दूसरी जेल में शिफ्ट किया जा चुका है। उधम सिंह भी यहां से दूसरी जेल में भेजा जा चुका है लेकिन कुछ अपराधी अब भी ऐसे हैं जो चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं।

पंचायत चुनाव को सकुशल संपन्न कराने में जुटी पुलिस पिछले चुनाव में हुई घटनाएं और उससे जुड़े अपराधियों की भी पहचान करते हुए उनकी गतिविधियों पर नजर रखते हुए कार्रवाई कर रही है। क्षेत्रवासियों और खुफिया विभाग से मिले इनपुट के आधार पर पता चला कि जेल में निरुद्ध सात बंदी चुनाव में गड़बड़ी फैला सकते हैं, क्योंकि इनकी गतिविधियां संदिग्ध रहती है। इनके नाम का लोगों में भय और दहशत है।

ऐसे में इन सातों बंदियों को दूसरी जेलों में शिफ्ट कराने के लिए डीएम और एसपी की तरफ से शासन को रिपोर्ट भेजी गई है। शासन से संस्तुति मिलने के बाद दूसरी जेलों में शिफ्ट किया जाएगा। इस मामले में पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह का कहना है। चुनाव में गड़बड़ी फैलाने की आशंका के तहत सात बंदियों को दूसरी जेलों में शिफ्ट कराने की रिपोर्ट भेजी गई है। इनके स्थानांतरण की अनुमति मिलने के बाद दूसरे जेल में शिफ्ट किया जाएगा ताकि चुनाव शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न हो सके।

BY Ran vijay singh