योगी सरकार का बड़ा फैसला, मस्जिद, गुरुद्वारा या चर्च में एक साथ सिर्फ पांच लोग ही कर सकेंगे प्रवेश

लखनऊ. प्रदेश में पांव पसार रहे कोरोना संक्रमण (Corona Virus) को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बड़ा फैसला लिया है। यूपी के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाने के बाद अब योगी सरकार ने धार्मिक स्थलों पर एक साथ पांच लोगों से अधिक के प्रवेश पर रोक लगा दी है। मस्जिद, गुरुद्वारा या चर्च में अब एक साथ सिर्फ पांच लोग ही प्रवेश कर सकेंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनपद लखनऊ में कोविड-19 के उपचार के लिए एल-2 और एल-3 के पर्याप्त बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि लखनऊ में तत्काल दो हजार आईसीयू बेड की व्यवस्था की जाए। जिलाधिकारी को लखनऊ के सभी कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के भी निर्देश हैं।

कोविड अस्पताल में तब्दील हुए ये कॉलेज

कोविड के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लखनऊ के एरा मेडिकल काॅलेज, टीएस मिश्रा मेडिकल काॅलेज और इण्टीग्रल मेडिकल काॅलेज को कोविड अस्पताल में तब्दील किया गया है। योगी सरकार के निर्देश के अनुसार, डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में परिवर्तित किये जा रहे तीनों मेडिकल काॅलेजों व बलरामपुर चिकित्सालय में ट्रेंड मैनपावर की व्यवस्था के साथ ही, वेंटीलेटर एवं एचएफएनसी की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग के निर्देश

योगी सरकार ने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के निर्देश दिए हैं। राजधानी लखनऊ में संपर्क में आने वाले व्यक्ति में सं कम से कम 30-35 लोगों को ट्रेस करते हुए इनका कोविड टेस्ट कराने के निर्देश हैं। इसके साथ ही लखनऊ में प्रत्येक गांव और नगर निकाय के प्रत्येक वाॅर्ड में निगरानी समितियों को सक्रिय करने को कहा गया है। मण्डलायुक्त जनपद लखनऊ में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फाॅगिंग की कार्यवाही व्यापक पैमाने पर करायें. पुलिस आयुक्त लखनऊ में पब्लिक एड्रेस सिस्टम को प्रभावी ढंग से संचालित कराई जाएंगी।

ये भी पढ़ें: अप्रैल से जुलाई तक इन दिनों में शुभ मूहर्त, लेकिन शादियों पर भारी पड़ सकती है कोरोना महामारी

ये भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए घर बैठे बुक करें स्लॉट, एक या एक से अधिक व्यक्तियों के लिए हो जाएगा रजिस्ट्रेशन