यूपी बोर्ड परीक्षार्थियों का रोल नंबर होगा खास, इस बार किया गया ये बदलाव

लखनऊ. इस वर्ष होने वाले यूपी बोर्ड (UP Board) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को खास अनुक्रमांक आवंटित किया जाएगा। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने वाले 56 लाख परीक्षार्थियों को इस तरह का अनुक्रमांक देगी। इस अनुक्रमांक को बताते ही परीक्षा वर्ष का पता चल जाएगा। यानी कि अभ्यर्थी ने किस वर्ष परीक्षा दी थी, इसका पता चल जाएगा। पिछले वर्ष तक जहां सात अंकों का अनुक्रमांक जारी होता आया है, वहीं इस वर्ष नौ अंकों का रोल नंबर दिया जाएगा। इस पर बोर्ड प्रशासन का कहना है कि इससे परीक्षार्थी, अभिभावक व बोर्ड कार्यालयों को सहूलियत रहेगी।

लागत में हुआ कार्य

यूपी बोर्ड ने नया अनुक्रमांक आंवटित करने में एक रुपया भी खर्च नहीं किया गया है। बोर्ड प्रशासन का कहना है कि पिछले वर्षों में जिस तरह अनुक्रमांक तैयार होते थे, उसी लागत में यह कार्य हुआ है। सीबीएसई बोर्ड में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू है। यूपी बोर्ड ने पहले उसका अनुसरण करके समान शिक्षा को बढ़ावा दिया है। अनुक्रमांक आवंटन भी उसी प्रकार किया गया है।

56 लाख से अधिक विद्यार्थी होंगे शामिल

इस बार कुल 56,03,813 विद्यार्थी परीक्षा देंगे। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए कुल 56,03,813 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है। इसमें हाइस्कूल के 29,94,312 और इंटरमीडिएट के 26,09,501 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। दोनों परीक्षाओं में कुल 31,47,793 बालक और 24,56,020 बालिकाएं पंजीकृत हैं। हाईस्कूल परीक्षा में 16,74,022 बालक व 13,20,290 बालिकायें पंजीकृत हुई हैं। इसी तरह इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा में 14,73,771 बालक व 11,35,730 बालिकायें कुल 26,09,501 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए हैं।

ये भी पढ़ें: इस तारीख से हो सकती है यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा, पढ़ें अपडेट्स

ये भी पढ़ें: होमगार्ड भर्ती को शासन की हरी झंडी, पंचायत चुनाव खत्म होते ही शुरू होगी भर्तियां