परमबीर सिंह का महाराष्ट्र में फिर बड़ा खुलासा, अब डीजीपी को लेकर कही ये बातें

महाराष्ट्र में अभी एक मुद्दा थमा नहीं था कि अब मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर ने एक और लेटर जारी कर बड़ा दावा किया है. इससे पहले उन्होंने राज्य के तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख पर वसूली के आरोप लगाये थे, जिसके बाद भाजपा समेत तमाम विपक्षी दल शिवसेना गठबंधन पर हावी हो गये. विपक्ष के सवालों के बाद अनिल देशमुख ने गृह मंत्री के पद से इस्तीफा भी दे दिया था और उनके खिलाफ सीबीआई ने जांच शुरू कर दी.

जानकारी के लिए बता दें मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने अब महाराष्ट्र के मौजूदा डीजीपी संजय पांडे पर बड़े आरोप लगाये हैं. सीबीआई को लिखे लेटर में परमबीर सिंह ने लिखा है कि महाराष्ट्र के डीजीपी संजय पांडे ने उन्हें पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाये गये आरोपों को वापस लेने को कहा है. उनके इन आरोपों के बाद महाराष्ट्र में एक बार फिर हलचल शुरू हो गयी है.

दरअसल परमबीर ने सीबीआई को पत्र लिख कहा है कि संजय पांडे ने उनसे कहा है कि ऐसा करने पर उनके खिलाफ चल रही जांचों को बंद कर दिया जायेगा. उन्होंने आरोप लगाया है कि अनिल देशमुख के खिलाफ शुरू हुई जांचों को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है. अब उनके इन आरोपों के बाद एक बार फिर से उद्धव सरकार पर ऊँगली उठना शुरू हो सकता है. उन्होंने साफ़ कहा है कि गवाहों को प्रभावित किया जा रहा है.

गौरतलब है कि परमबीर सिंह ने ही उद्धव ठाकरे को पत्र लिख आरोप लगाया था कि अनिल देशमुख ने ही मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रूपये वसूल करने का टारगेट दिया था. महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इन आरोपों से इनकार किया. जिसके बाद बॉम्बे हाईकोर्ट की तरफ से सीबीआई जांच के आदेश दिए गये तब जाकर देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दिया था. इस समय उनपर लगे आरोपों की सीबीआई जांच कर रही है. परमबीर सिंह ने लिखा कि ”उन्होंने (डीजीपी) मुझे सलाह देते हुए कहा कि वह सिस्टम के खिलाफ कई सालों तक लड़े, लेकिन सिस्टम कभी आपको जीतने नहीं देता है। अपने अनुभव का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि कोई सिस्टम के खिलाफ नहीं लड़ सकता है. उन्होंने आगे यह भी कहा कि 1 अप्रैल 2021 को मेरे खिलाफ शुरू की गई विभागीय जांच सरकार की ओर से विचार किए जा रहे कार्रवाइयों में से एक है। राज्य सरकार मेरे खिलाफ आपराधिक केस भी दर्ज करना चाहती है.” इसके आगे उन्होंने बताया कि ”डीजीपी ने मुझसे कहा कि यदि मैं ठीक भी हूं तब भी सरकार के खिलाफ नहीं लड़ना चाहिए। यह मुझे आगे भी परेशानियों में डालेगा और अंत में कहीं का नहीं छोड़ेगा.”