यूपी में ऑस्ट्रेलिया की तकनीक से बनेंगे मकान, लाइट हाउस के अंतर्गत शुरू हुई इस तरह के मकानों की बुकिंग

लखनऊ. प्रदेश में नई तकनीक से घर तैयार किए जाएंगे। राजधानी लखनऊ में लाइट हाउस योजना (Light House Yojana) के तहत पंजीकरण की शुरुआत हो चुकी है। अवध विहार योजना में बनने वाले इन मकानों के लिए 10 मई, 2021 तक बुकिंग कराई जा सकती है। सूडा निदेशक उमेश प्रताप सिंह ने कहा कि नई टेक्नोलॉजी से मकान तैयार किए जा रहे हैं। यह मकान बहुत ही खूबसूरत होंगे। इन्हें ऑस्ट्रेलिया की टेक्नोलॉजी से बनाया जा रहा है। अवध विहार योजना में कुल 1040 मकानों का निर्माण कराया जा रहा है। इनकी कीमत 12.59 लाख है। लेकिन लाभार्थियों को केवल 5.26 लाख रुपए ही चुकाना होगा।

प्री फैब्रिकेटेड होंगे मकान

लाइट हाउस योजना के अंतर्गत बनने वाले मकान प्री फैब्रिकेटेड होंगे और मजबूती से कहीं से भी कमजोर नहीं होंगे। इस तकनीक को पूरे प्रदेश में बढ़ावा दिया जा रहा है। इसमें केंद्र और प्रदेश सरकार की ओर से 5.33 लाख रुपए अनुदान के रूप में दिए जाएंगे। 12 लाख 59 हजार में भारत सरकार साढ़े पांच लाख में अनुदान देगी। केंद्र सरकार टेक्निकल इनोवेशन ग्रांट (टीआईजी) के तहत चार लाख, जबकि राज्य सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक लाख और टीआईजी के तहत एक लाख 33 हजार रुपए देगी। इस तरह से हर मकान पर 5.33 लाख रुपये का अनुदान दिया जा रहा है। इसका फायदा आम आदमी के साथ-साथ कंपनियों को भी होगा। कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को अपनाकर कम समय में ज्यादा मकान बना सकेंगी। वहीं लोगों को भी पहले की तुलना में बहुत कम समय में मकान मिलेंगे। प्रदेश में इस तरह के मकान पहली बार बनाए जा रहे हैं।

कौन ले सकता है योजना का लाभ

योजना में वह व्यक्ति आवेदन कर सकता है जिनकी सालाना आय तीन लाख से कम हो। पंजीकरण डूडा की ओर से खोला गया है। ऑनलाइन ई पंजीकरण सूडा की वेबसाइट पर कराया जा सकेगा।

ये भी पढ़ें: यूपी में गरीबों के लिये योगी सरकार का बड़ा तोहफा, 25 साल के लिए मिलेगा मकान, इनको मिलेगा फायदा

ये भी पढ़ें: प्रदेश में नई तकनीक से बनेंगे घर, स्टील के फ्रेम पर बनेगा आशियाना, हर मकान पर 5.33 लाख रुपए का अनुदान