ऑक्सीजन के संकट से जूझ रहे भारत की मदद के लिए अमेरिका भी आया आगे, दिल्ली पहुंची अमेरिका की मदद की पहली किस्त

एक तरफ देश में कोरोना का कहर और दूसरी तरफ ऑक्सीजन की किल्लत से स्थिति ख़राब हो रही है. हालात ये हो गए ही कि कई जगहों पर अस्पतालों में मरीजो को भर्ती नहीं करा जा रहा है. जिस वजह से हालातों को देखते हुए केंद्र सरकार लगातार सख्त कदम उठा रही है और देश में ऑक्सीजन के संकट को कम करने के लिए युद्ध स्तर पर काम किया जा रहा है.

इतना ही नहीं पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्र सरकार, राज्य सरकारें, स्वास्थ्य मंत्रालय, रेलवे विभाग, सेना, एयरफोर्स, पुलिस विभाग दिन रात लोगों की सांसे बचाने के लिए काम कर रहे हैं. ताकि लोगो को बचाया जा सके और ऑक्सीजन की कमी न हो पाए. वही भारत में बिगड़ते हालातों को देखते हुए दुनियाभर से मदद के हाथ बढ़ाये जा रहे है.

जानकारी के लिए बता दें कि अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम समेत अन्य कई देशों ने अपनी ओर से मदद रवाना कर दी है जो भारत पहुंचना शुरू भी हो गई है. बता दें कि अमेरिका द्वारा भेजी गयी मदद के 319 ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर दिल्ली पहुंच गए हैं और अब इन्हें अस्पताल की जरूरतों के हिसाब से सप्लाई किया जाएगा. इसके अलावा अमेरिका की ओर से इनके वेंटिलेटर, रैपिड किट्स भी भेजी जा रही हैं. साथ ही साथ अमेरिका वैक्सीन प्रोडक्शन के लिए रॉ मैटेरियल देने का वादा भी कर चुका है.

जाहिर है कि भारत में हालात काफी गंभीर हो गए है और इन्ही हालातों को देखते हुए अब दुनियाभर से भारत कि मदद के लिए कई देश आगे आ रहे है ताकि संकट के समय में भारत के साथ खड़े हो सके और एक मजबूत विश्व की मिशाल पेश कर सके.