मिडिल क्लास को केंद्र सरकार का बड़ा तोहफा, ब्याज दरों में कटौती का फैसला लिया वापस

केंद्र सरकार ने आज मिडिल क्लास को बड़ी राहत देते हुए अपने उस फैसले को वापस ले लिया जिसमे विभिन्न बचत खतों पर ब्याज दरों में कटौती की घोषणा की गई थी. सरकार के इस फैसले की हर तरफ से आलोचना हो रही थी. जिसे देखते हुए वित्त मंत्री ने एक दिन बाद ही इस फैसले को वापस ले लिया. यह करोड़ों लोगों के लिए काफी राहत की बात है. ये छोटी बचत की योजनाएं समाज के गरीब, निम्न मध्य वर्ग और वेतनभोगियों के बीच काफी लोकप्रिय है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘भारत सरकार की छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर वही रहेगी जो वित्त वर्ष 2020-2021 की आखिरी तिमाही में थी. यानी मार्च 2021 की ब्याज दर ही आगे भी मिलेगी. जारी किए गए आदेश वापस लिए जाएंगे.”

इससे पहले सरकार ने बुधवार 31 मार्च को एक अप्रैल 2021 से छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज की दर को घटाने का ऐलान किया था. ये नोटिफिकेशन नए वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही के लिए जारी किया गया था. सरकार के इस फैसले से मिडिल क्लास में आने वाले करोड़ों लोगों के चेहरे पर मायूसी छा गई थी. दशकों से सबसे लोकप्रिय बचत खाता PPF पर ब्याज दर 46 साल के न्यूनतम स्तर पर आ गया था. सरकार के इस फैसले की जमकर किरकिरी हो रही थी. लेकिन एक दिन बाद ही वित्त मंत्री ने इस फैसले को वापस ले कर सबके चेहरे पर मुस्कान वापस ला दी.