पीएम माोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एबीवीपी का फिर सूपड़ा साफ, एनएसयूआई ने जीतीं छात्रसंघ की सभी सीटें

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को दूसरा बड़ा झटका लगा है। वाराणसी की दूसरी युनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव (Varanasi Student Union Election) में भी एबीवीपी का सूपड़ा साफ (ABVP Big Loss in Varanasi Student Union Election) हो गया है, जबकि कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने क्लीन स्वीप (NSUI Clean Sweep in Varanasi) करते हुए सभी सीटों पर जीत दर्ज की है। इस साल पहले काशी विद्यापीठ के छात्रसंघ चुनााव में एबीवीपी को एक भी सीटें नहीं मिलीं और अब सम्पूर्णानंद संस्कृत युनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी को बड़ी हार का मुंह देखना पड़ा है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ट्वीट कर इसे एनएसयूआई की धमाकेदार जीत बताया है।


वाराणसी के सम्पूर्णानंद संस्कृत युनिवर्सिटी के अध्यक्ष समेत कुल चार पदों के अलावा श्रमण विद्या संकाय व वेद वेदांग संकाय प्रतिनिधि के लिए भी चुनाव हुआ। सहित्य संस्कृति संकाय व दर्शन संकाय प्रतिनिधि पहले ही निर्विरोध चुन लिए गए, जबकि आधुनिक ज्ञान विज्ञान संकाय प्रतिनिधि पद के लिये किसी ने नामांकन नहीं किया। अध्यक्ष समेत चार मुख्य पदों के लिये आठ प्रत्याशी मैदान में थे।


अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के कृष मोहन शुक्ला ने 442 वोट पाकर एबीवीपी के अजय दुबे को 136 वोटों से हरा दिया। दुबे को 136 वोट मिले। इसी तरह एनएसयूआई के अजीत कुमार चौबे ने 441 वोट पाकर एबीवीपी के प्रत्याशी चंद्रमौली तिवारी (343) को 68 वोटों से हरा दिया। महामंत्री पद पर एनएसयूआई के शिवम चौबे ने 415 वोटों के साथ एबीवीपी के गौरीशंकर गंगेले को 219 वोटों से हरा दिया। गंगेले को 266 वोट मिले। इसी तरह पुस्तकालय मंत्री के पद पर भी एनएसयूआई के आशुतोष कुमार मिश्रा ने 415 वोट बटोरे और एबीवीपी के विवेकानंद पाण्डेय (338) को 77 वोटों से हरा दिया।