वैक्सीन लेने के बाद भी डीएम हुए कोरोना संक्रमित

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
हमीरपुर. कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच अब केंद्र सरकार वैक्सीन लेने के बाद संक्रमित होने वाले लोगों का भी डेटा इकट्ठा करेगी। देश में कई जगहों से ऐसे मामले सामने आए हैं, जहां वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद भी लोग कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं। इस डेटा को जुटाने के लिए कोरोना वायरस सैंपल की जांच के लिए फॉर्म में वैक्सीन से जुड़े कुछ कॉलम जोड़े गए हैं। जिसमें लोगों से वैक्सीन लेने से जुड़ी जानकारी मांगी जाएगी।

जनपद हमीरपुर के जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना से संक्रमित हो गए। जिलाधिकारी को विगत दिनों कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगाई गई थी। तदोपरांत अपने रूटीन वर्क को निस्तारित करते हुए वह अपने कार्य में लगे हुए थे लेकिन अचानक तबीयत बिगड़ने से उनकी जांच की गई तो डीएम भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जिसके उपरांत उनको उनके आवास पर ही आइसोलेट किया गया। जिले के डॉक्टर उनकी निगरानी में लगे हुए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 जांच के सैंपल फॉर्म में अपनी जानकारी देने के साथ लोगों को यह भी बताना होगा कि उन्होंने वैक्सीन ली है या नहीं। अगर किसी ने वैक्सीन ली है, तो उसे कंपनी का नाम भी लिखना होगा। देश में फिलहाल दो वैक्सीन, कोविशील्ड और कोवैक्सीन की डोज दी जा रही है। साथ ही लोगों को यह भी बताना होगा कि उन्होंने वैक्सीन की पहली डोज और दूसरी डोज कब ली है। इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय के पास पता करने का कोई तरीका नहीं था कि वैक्सीन लेने के बाद कोई पॉजिटिव हो रहा है या नहीं।

ये भी पढ़ें - कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इलाहाबाद विवि 21 अप्रैल तक बंद, ऑनलाइन होगी पढ़ाई