प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना को देखते हुए संतो से की ऐसी अपील, जिससे सारे हिन्दू खुश हो गये

अभी आपको मालूम ही होगा कि कोरोना के केस देश भर में किस तरह से और किस गति के साथ में बढ़ रहे है. ऐसे वक्त में हर कोई बहुत ही अधिक चिंतित है और लोग चाह भी यही रहे है कि जितना जल्दी हो सकता है उतना जल्दी इसे निपटाया जा सके, मगर हरिद्वार में हो रहा कुम्भ इस अग्नि में घी डालते हुए प्रतीत हो रहा था, संतो के भी पोजेटिव होने की खबर आ रही थी, इसके बाद में अब खुद प्रधानमंत्री मोदी को ही आगे आना पड़ा और उन्होंने इस मामले को अपने स्तर पर ही सुलझा लिया.

पीएम मोदी ने की कुम्भ का संचालन कर रहे संतो से बात, मेले को इस बार प्रतीकात्मक रूप से रखने की अपील की
प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में खुद निजी तौर पर कुम्भ का संचालन कर रहे संतो से बातचीत की है और इस बात को करने के बाद में उन्होंने उनसे जो कुछ भी चल रहा है उसके बाद में उनसे अपील की कि इस बार के लिए कम से कम कुम्भ प्रतीकात्मक रूप से रखा जाये, यानी कुछ संत जाए और डुबकी लगाकर के कुम्भ अयोजन करे, भीड़ करना इस बार ठीक नही है.

माँन गये संत, ऐसा ही किया जायेगा
स्वामी अवधेशानंद जी ने प्रधानमंत्री मोदी की अपील अक जवाब सोशल मीडिया के माध्यम से दिया है और उन्होंने बाकायदा साफ तौर पर ये कहा भी है कि हम आपके आग्रह का सम्मान कर ते है और जो भी लोग आ रहे है वो लोग कोविड से जुड़े हुए नियमो का सम्मान करे. यानी अब कुम्भ को लेकर के जो भी चिंता जताई जा रही थी कि केस बढ़ जायेंगे कम से कम अब वो तो नही हो रहा है.

ऐसे में लोगो ने पीएम की सराहना की है कि उन्होंने निचले अधिकारियों को भेजने या फिर जोर जबरदस्ती से मेला बंद करवाने की बजाय खुद ही संतो से निजी तौर पर बातचीत की और उनको समझा दिया, निजी तौर पर हिन्दू समाज के लोग इससे काफी अधिक प्रसन्न नजर आ रहे है.