देवीपाटन मंदिर में चैत्र नवरात्रि मेले के लिए गाइडलाइन जारी

बलरामपुर. देवीपाटन मंदिर (Devipatan temple) में चैत्र नवरात्रि मेले (Chaitra Navratri Fair) के सुचारू रूप से आयोजन के लिए कोरोना गाइडलाइन (Guideline) के साथ मेला गाइडलाइन जारी की गई है। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के साथ मास्क (Masks Compulsory) का प्रयोग अनिवार्य है। अगर कोई व्यक्ति गाइडलाइन का पालन नहीं करेगा तो उस पर कार्रवाई होगी। मंदिर सभागार में देवीपाटन के चैत्र नवरात्रि मेले को सुचारू रूप से चलाने लिए एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें महंत योगी मिथिलेश नाथ, मंडलायुक्त देवीपाटन मंडल एसवीएस रंगाराव, आईजी राकेश कुमार सिंह, जिलाधिकारी श्रुति, पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल शामिल हुए।

पुरानी सरकारी नौकरियों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को मिलेगा 10 प्रतिशत आरक्षण

बैठक में अधिशासी अभियंता विद्युत ने बताया कि, अलग से फीडर से मंदिर परिसर में 24 घंटे विद्युत व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। साफ सफाई के लिए 250 सफाईकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। ये सभी सफाईकर्मी ड्रेस में तैनात रहेंगे। शुद्ध पेयजल के लिए सभी हैंडपंप रिबोर मरम्मत करा दिया गया है इसके अतिरिक्त 8 पानी टैंकर तैनात रहेंगे।। मेले में मोबाइल शौचालय, स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था की गई है। यातायात व्यवस्था में मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पर्याप्त मात्रा में निजी व सरकारी बस का संचालन किया जाएगा।

पर्याप्त मात्रा में सैनिटाइजर की व्यवस्था :- मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन अनिवार्य होगा। स्वास्थ्य विभाग श्रद्धालुओं की कोविड-19 सैंपलिंग करेगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि मेला परिसर में स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना की जाएगी। जिसमें चिकित्सा अधिकारी, स्वास्थ्य कर्मी व एएनएम की ड्यूटी लगाई जाएगी। एंबुलेंस तैनात रहेगी। इस अवसर पर महंत योगी मिथिलेश नाथ योगी ने मेला परिसर में आने वाले समस्त श्रद्धालुओं से मास्क का प्रयोग तथा सोशल डिस्टेंसिंग अपनाए जाने की अपील की गई। महंत ने पर्याप्त मात्रा में सैनिटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने की बात कही।

चप्पे-चप्पे पर नजर :- सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मंदिर परिसर में सभी स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे, ड्रोन कैमरा से चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाएगी। मंदिर परिसर में पर्याप्त मात्रा में पुरुष व महिला पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसके अतिरिक्त डॉग स्क्वायड व पीआरडी जवान की भी ड्यूटी लगाई जाएगी।