कोरोना से बिगड़ते हालातों को देख सुप्रीम कोर्ट हुआ सख्त, केंद्र से चार मुद्दों को लेकर पूछा सवाल

देश के कई राज्यों में कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है जिस वजह से आये दिन लाखों की संख्या में अब कोरोना मरीज सामने आ रहे है. हालात इस कदर ख़राब हो गए है कि कही बेड्स की कमी हो रही है तो कही ऑक्सीजन की. जिस वजह से अस्पतालों में भी स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गयी है.

वही दूसरी तरफ अब लगातार बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए सुप्रीमकोर्ट ने सख्ती दिखाई है. SC ने गुरुवार को केंद्र सरकार को नोटिस भेजा है जिसमें SC ने पूछा है कि उनके पास कोविड-19 से निपटने के लिए क्या नेशनल प्लान है. इसके अलावा कोर्ट ने हरीश साल्वे को एमिकस क्यूरी भी नियुक्त किया है.

बता दें कि कोर्ट ने चार अहम मुद्दों को ध्यान में रखते हुए केंद्र से सवाल पूछा है जिसमें पहला ऑक्सीजन की सप्लाई, दूसरा- दवाओं की सप्लाई, तीसरा- वैक्सीन देने का तरीका और प्रक्रिया और चौथा- लॉकडाउन करने का अधिकार सिर्फ राज्य सरकार को हो, कोर्ट को नहीं. पता हो कि देश में दिन पर दिन स्थिति ख़राब होती जा रही है और ऐसे हालातों में कोर्ट को इस मामले पर हस्तक्षेप करना पड़ा.

वही कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा भी दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है तो दूसरी ओर देश के अलग अलग हिस्से से ऑक्सीजन की मांग भी बढ़ रही है. इसके अलावा बता दें कि अब मामले की अगली सुनवाई 23 अप्रैल यानी कल होगी.