लॉकडाउन पर यूपी के स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान

कानपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus in UP) मरीजों की बढ़ती संख्या से चिंतित उत्तर प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य, परिवार व शिशु कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह (Health Minister Big statement) ने कहाकि, लॉकडाउन (Lockdown in UP) पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। पर नाइट कर्फ्यू को लेकर सख्ती बढ़ाई जाएगी। यूपी में मिलने वाले कुल कोरोनावायरस पाजिटिव मरीजों की संख्या में 50 फीसद संख्या सिर्फ कानपुर, लखनऊ और वाराणसी शहरों से आ रही है, यह बेहद चिंतनीय है।

सीएम योगी का लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर नगर में वर्क फ्रॉम होम का आदेश

बिना मास्क खरीदारी पर रोक :- मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहाकि, आज से बिना मास्क (Coronavirus Masks Compulsory) के सामान खरीदारी पर रोक लगा दी गई है। यदि दुकानदार बिना मास्क के मिले तो उसपर भी कार्रवाई की जाएगी। कोई भी ढिलाई बर्दाश्त नहीं है। जिलाधिकारी और पुलिस कमिश्नर को यह जिम्मेदारी सौंप दी गई है।

डीएम के बढ़ाए अधिकार :- शुक्रवार को कानपुर सर्किट हाउस में हुई बैठक मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहाकि, कोरोना मरीजों की जांच के लिए पहले की तरह अस्पतालों की संख्या बढ़ाई जाए। टेस्टिंग तेज करने के साथ्ज्ञ—साथ सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में कोविड वार्ड बनाकर बेड की संख्या बढ़ाई जाएगी। ये सभी इंतजाम जल्द ही पूरे कर लिए जाएं। सभी जिलाधिकारियों को यह अधिकार दे दिया गया है कि कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए वे अपने स्तर से कदम उठाने के लिए स्वतंत्र हैं।

पुलिस कमिश्नर नजर रखें :- मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहाकि, पुलिस कमिश्नर को निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि, 60 या उससे ऊपर और 10 वर्ष तक के बच्चों को कार्यक्रमों या शादी समारोहों में जाने से रोके। और मिलने पर कार्रवाई करें।

10 अप्रैल से सभी सेंटरों पर भरपूर वैक्सीन :- चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने दावा किया कि, अब 10 अप्रैल से सभी सेंटरों पर भरपूर वैक्सीन मिलेगी। वैक्सीन आपूर्ति में कोई अवरोध नहीं आएगा। केंद्र सरकार की तरफ से आर्डर जारी कर दिए गए हैं। वैक्सीन लगाने की रफ्तार में भी तेजी लाई जाएगी। जिससे कम समय में ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग सके।

घबराने की आवश्यकता नहीं :- चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कोरोना वैक्सीन लगने के बावजूद लोग संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे लोगों की संख्या 100 में 19 की है। इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है, जो वैक्सीन लगने के बावजूद संक्रमित हो रहे हैं, वे जल्दी ठीक भी हो जाते हैं।