चीन ने फिर से भारत को मुश्किल वक्त में धोखा दे दिया

भारत और चीन दोनों ही देशो के बीच में जिस तरह के सम्बन्ध पिछले कुछ वक्त में रहे है वो हर कोई देख ही रहा है कि कुछ ख़ास अच्छे नही थे और ये अपने आप में काफी बुरा टाइप का भी था. जिस किसी ने भी हालातो को देखा और समझा वो काफी बुरे ढंग से इन चीजो को देख रहे है और अभी की बात करे तो फ़िलहाल के लिए भारत काफी बुरे वक्त से गुजर रहा है और मदद के नाम पर चीन ने जो धोखा दिया है उसकी उम्मीद तो कम से कम कोई भी नही कर रहा था.

पहले की मदद ऑफर, फिर भेजने की बारी आयी तो हवाई जहाज ही बंद कर दिए
चीन ने ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर के मुश्किलों का सामना कर रहे भारत की मदद के लिए आगे आकर के पेशकश की और कहा कि हम भारत के लिए जो हो सकेगा करेंगे. इसके बाद में चीन की कम्पनियों की तरफ से कुछ एक मशीने वगेरह जो है वो आने वाली थी. मगर उससे पहले ही चीन ने भारत आने वाली सभी कार्गो उड़ानों को 15 मई तक के लिए रोक दिया है और वजह बताई है करोना. ऐसे में भारत के कई व्यापारी जो इन मशीनों के भरोसे थे उनको काफी झटका लग गया है.

यानी सामने से जो चीन मदद की बाते करता है पीठ पीछे वो गलत काम कर रहा है और ये अपने आप में हर किसी के लिए हैरान करने वाली बात ही है. खैर अब जो भी है इस तरह की चीजे अक्सर ही देखने में आती रहती है और तो और इसके अलावा एक और चीन ने बदमाशी की है और वो ये कि जो ऑक्सीजन आदि की मशीने है उसके दाम चालीस प्रतिशत तक बढ़ा दिए है.

यानी चीन का इरादा कोई मदद करने का नही बल्कि सिर्फ पैसा उगाने का था. भारत को मुश्किल में देखकर के पैसा कमाना चाह रहा था और इसके लिए दुनिया के सामने थोडा ड्रामा तो करना ही पड़ता है.