पूर्वांचल के कई जिलों में बदला मौसम का मिजाज, बारिश से गेहूं की फसल को भारी नुकसान, किसान परेशान

वाराणसी. यूपी के पूर्वांचल के कई जिलों (Purvanchal Several districts) में मौसम ने ऐसी करवट (weather Mood Revenge) ली जिससे किसानों की हालात पस्त हो गई। पूर्वांचल में चक्रवाती सर्कुलेशन की वजह से गुरुवार रात आंधी-बारिश (rain) और शुक्रवार को तेज बारिश और आसमानी बिजली ने खेतों में गेहूं की तैयार फसलों (Wheat crop huge loss) को भारी नुकसान पहुंचाया। खलिहानों में रखी फसल भींगने से किसानों की चिंता (Farmers upset) बढ़ गई।

मौसम विभाग का इन पांच जिलों में भारी बारिश और तेज अंधड़ का अलर्ट

खूब हुई बारिश :- वाराणसी और आस-पास के कई जिलों में शुक्रवार सुबह पांच बजे से ही घने काले बादल छाये हुए थे। हवा में ठंडक का आभास हो रहा था। फिर छह बजे के आसपास बूंदाबादी शुरू हुई और उसके बाद कुछ स्थानों पर जमकर तो कुछ स्थानों पर छिटपुट बारिश का दौर जारी रहा। बारिश से अधिकतम तापमान 37.8 डिग्री सेल्यिसस पर आ गया। गुरुवार को 40.4 डिग्री था।

कटाई और मड़ाई लेट हो जाएगी :- वाराणसी में आराजी लाइन ब्लाक के लस्करियां, भवानीपुर, खगराजपुर, बहोरनपुर, राजापुर, बभनियांव, जीतापुर, महावन, गजापुर, भीषमपुर, कृष्णदत्तपुर, ढढ़ोरपुर आदि गांवों में गेहूं की कटी हुई लेहनियां और बांधे हुए बोझ भीग गये। वहीं आस-पास के जिलों में भी यही हालात बन गए। चिंतित किसानों ने बताया कि, अब बारिश से कटाई और मड़ाई तीन से चार दिन लेट हो जाएगी।