बैंक में चुनाव की जमानत राशि जमा करने में प्रत्याशियों के छूट रहे पसीने, कोविड प्रोटोकाल की भी उड़ रही धज्जियां

सीतापुर. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के चौथे चरण के लिए सीतापुर में 18 अप्रैल से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इस पंचायत चुनाव में दावेदारी निभा रहे प्रधान और जिला पंचायत पद के प्रत्याशी कोविड-महामारी के बीच भी लापरवाह बने हुए हैं। इसका जीता जागता उदाहरण उस वक्त सामने आया जब सीतापुर की मुख्य शाखा स्टेट बैंक में पंचायत चुनाव की जमानत धनराशि जमा करने के लिए प्रत्याशियों का हुजूम उमड़ पड़ा। बैंक के मेन गेट से लेकर बैंक के अंदर तक प्रत्याशियों का हुजूम था। प्रत्याशी कोरोना महामारी के बीच भी सजग नहीं दिखे यहां पर प्रत्याशी बगैर सोशल डिस्टेंसिंग और बगैर मास्क के दिखाई दिए। इस महामारी के बीच प्रत्याशियों की यह लापरवाही आम जनमानस के लिए भी भारी पड़ सकती है लेकिन सीतापुर का जिला प्रशासन सब कुछ जानकर भी अंजान बना हुआ है।


कोविड प्रोटोकाल की उड़ रही धज्जियां

मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के मुख्य शाखा स्टेट बैंक का है। यहां सीतापुर में जिला पंचायत सदस्य, प्रधान पद, बीडीसी पद, और अन्य पदों के लिए जमानत धनराशि का चालान जमा होने का प्रावधान है। मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले 2 दिनों से सीतापुर के मुख्य शाखा स्टेट बैंक में प्रत्याशियों का चालान जमा करने के लिए हुजूम उमड़ रहा है। प्रत्याशी कोविड- महामारी के बीच भी सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के बगैर देखे जा रहे हैं। सीतापुर का जिला प्रशासन यह भीड़ और इसके आने वाले परिणाम को देखकर और जानकर भी अनजान बना हुआ है। बैंक में उमड़ रही यह भीड़ कोरोना महामारी के बीच कहीं भयानक विस्फोट न कर दे। जिससे आम जनमानस का जीना मुहाल हो जाए।

ऑनलाइन जमा करें तो न लगे भीड़

बैंक मैनेजर का कहना है कि चालान जमा करने का ऑनलाइन प्रावधान भी है लेकिन प्रत्याशी सभी ब्लॉकों के बैंकों में जमा करने के बावजूद सीतापुर मुख्य शाखा स्टेट बैंक में ही जमा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर प्रत्याशी ऑनलाइन अपना चालान जमा कर दें तो शायद यहां उमड़ रही भीड़ कुछ कम ही दिखाई पड़े। उनका कहना है कि जिला प्रशासन इसमें पूरा सहयोग कर रहा है लेकिन इस महामारी के बीच बैंक के बाहर उमड़ रही यह भीड़ कहीं ना कहीं महामारी को दावत दे रही है लेकिन सीतापुर जिला प्रशासन सब कुछ जान कर भी अनजान बना बैठा है।