Ramadan Mubarak 2021 : इस बार खास खजूरों से करिए इफ्तार, तीन साल के बच्चे से 100 साल तक के बुजुर्ग खा सकते हैं ये खजूर

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
केपी त्रिपाठी/मेरठ. Ramadan Mubarak 2021 की शुरुआत हो चुकी है। ऐसे में खजूर की बिक्री भी काफी बढ़ गई है। खजूर को आयुर्वेद में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला और शरीर को चुस्त बनाने वाली सबसेे कारगर चीज बताया गया है। खजूर को रमजान में खाने वाला एक पवित्र फल भी माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि हजारों साल से चले आ रहे रमजान के दिनों में एक यही फल हुआ करता था जो कि रोजेदारों को रोजा खोलने के दौरान नसीब होता था। तभी से खजूर को रोजे के दौरान खाने वाला पवित्र फल माना जाता है।

मेरठ में स्पेशल खजूर (Special Dates) बेचने वाले खालिद ने बताया कि रमजान में रोजा खोलने के लिए खजूर को खाया जाता है। इससे जहां एक ओर रोजेदारों को तरावट मिलती है, वहीं यह पानी की कमी को भी दूर करता है। उन्होंने बताया कि खजूर की कई वैराइटी इस समय मेरठ में हैं।

यह भी पढ़ें- Ramadan 2021: रमजान में इन लोगों को नहीं रखना चाहिए Roza, फायदे की जगह हो सकता है नुकसान!

अजवा खजूर (Azwa dates)

अजवा खजूर की खासियत इसकी मिठास है। यह खजूर शुगर के मरीज भी खा सकते हैं। यह खजूर विशेष रूप से सऊदी अरब में पैदा होता है। वहीं से यह हिन्दुस्तान में मंगाया जाता है। खालिद का कहना है कि रमजान के दौरान इस खजूर की मांग और अधिक बढ़ जाती है। यह खजूर एक हजार रुपए प्रति किलो बाजार में बिक रहा है।

बसरा खजूर (Basra dates)

बसरा खजूर सबसे सस्ता है। बसरा खजूर बाजार में इस समय 80 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव बेचा जा रहा है। इस खजूर की खासियत यह है कि सख्त होने के साथ ही चीनी से भी अधिक मीठा है। यह खजूर काफी पोष्टिक और ताकत प्रदान करने वाला होता है।

गुलाब-जामुन खजूर (Gulab-Jamun dates)

Ramadan Mubarak 2021 पर इस समय जो खजूर बाजार में सबसे अधिक लोगों की पसंद बना हुआ है, उसका नाम गुलाब-जामुन खजूर है। यह गुलाब-जामुन खजूर 3 साल के बच्चे से लेकर 100 साल के बुजुर्ग तक खा सकते हैं। इसकी खासियत है कि यह मुंह में रखते ही घुल जाता है। बिना दांत वाले व्यक्तियों और रोजेदारों की यह खजूर पहली पसंद है।

यह भी पढ़ें- रमजान को लेकर इमाम ने देशवासियों से की ऐसी अपील, हर कोई कर रहा तारीफ