भारत में कोरोना के फैले आतंक को रोकने के लिए इस देश ने दिए 125000 रेमडेसिविर

देश पूरी तरह से इस समय कोरोना के आतंक से जूझ रहा है. कोरोना का बढ़ता हुआ कहर रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है. आये दिन कोरोना के नए मरीजों की संख्या का रिकॉर्ड टूटता हुआ दिखाई दे रहा है. समूचे देश में कोरोना अपना कहर बरसा रहा है. इस कोरोना ने हर किसी को अपने गिरफ्त में ले रखा है और कोरोना के दूसरी लहर के गति का तीव्रता इतना तेज था कि हमे संभलने का अवसर ही नहीं मिला इस कारण कोरोना के इस संकट के समय में ऑक्सीजन व अन्य स्वास्थ्य से संबंधी सामानों की कमी होने लगी है. आपको बता दें कि कोरोना के नए मरीजों की संख्या 4 लाख को पार करते हुए दिखाई दे रही है. देश इस समय बहुत ही बुरे स्थिति से गुजर रहा है.

आपको बता दें कि ऐसे समय में हमारे देश की मदद कई विदेशी मुल्क कर रहें हैं. भारत के मदद के लिए कई देश लगातार जरूरी सामान भेज रहें हैं और अब भारत के मदद के लिए अमेरिका की ओर से 125000 रेमडेसिविर की शीशियां सोमवार को दिल्ली एयरपोर्ट पहुंच गई. अमेरिका से आये रेमडेसिविर से भारत में हो रही रेमडेसिविर की कमी को थोड़ा रहत जरुर मिलेगा. वहीं कोरोना महामारी के समय में ऑक्सीजन के कमी को दूर करने के लिए भारतीय वायु सेना बड़े ही जोर शोर से प्रयास में लगी हुई है.

आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना के सी- 17 एयरक्राफ्ट ने 4 क्रयोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर जर्मनी से एयरलिफ्ट कर हिंडन एयरबेस पर पहुंचाया गया है. इसके बाद ऑक्सीजन के 450 सिलेंडर भी ब्रिटेन से एयरलिफ्ट कर चेन्नई एयरबेस पर पहुंचाया गया है. आपकों बता दें कि कोरोना समस्या के समय में भारतीय नौसेना की जहाजों को विदेशों से ऑक्सीजन टैंकर लाने के लिए स्टैंड बॉय मोड़ पर रखा गया है. नेवी सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी कि गल्फ और साऊथ ईस्ट एशियन देशों के करीब भारी क्षमता वाली जहाजों को ऐसे अभियान के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है.