देश में वैक्सीन के कमी कारण, इस राज्य में 18 वर्ष से अधिक के लोगों का रोका गया टीकाकरण

देश में कोरोना के दूसरी लहर के कारण हालात काफी बिगड़े हुए हैं. कोरोना महामारी के कारण देश में तबाही मची हुई थी. लेकिन पिछले कुछ दिनों से हालात ठीक होने के पुख्ता संकेत मिलने लगे हैं. कोरोना संक्रमण के मामले में लगातार गिरावट देखी जा रही है. पिछले दो हफ्ते में संक्रमण दर में आधी गिरावट आई है. इस वजह से कहा जा सकता है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप धीरे-धीरे मंद पड़ रहा है. इस महामारी से बचने का अगर कोई कारगर तरीका है तो वो सिर्फ तेजी से टीकाकरण का होना है और देश में कोरोना से बचाव के लिए इस एकमात्र उपाय की भी कमी हो रही है.

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र राज्य में चल रहे वैक्सीनेशन को लेकर बहुत ही महत्वपूर्ण बयान दिया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में वैक्सीन की बहुत ही कमी हो रही है. वैक्सीन न मिलने की वजह से 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए जो टीकाकरण अभियान चलाया गया था. सरकार ने उसे रोक दिया है. जानकारी के मुताबिक आपको बता दें कि बीएमसी ने ट्वीट करके कहा था कि आज मुंबई में सभी वैक्सीन केन्द्र बंद रहें.

राज्य में कोरोना के हालात के बारे में बताते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बताया कि हमे उम्मीद है कि आने वाले जून माह तक स्थिति ठीक हो जायेगी और वैक्सीनेशन की हो रही कमी भी दूर हो जायेगी. जून माह में संक्रमण थमने के बाद वैक्सीन की आपूर्ति में भी तेजी आयेगी. इसी के साथ ही 24 घंटे टिकाकरण अभियान को तीव्रता से चलाया जायेगा. फिलहाल अभी महाराष्ट्र सरकार ने 18 से 44 वर्ष के लोगों का टिकाकरण अभियान रोक दिया है.