कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बना भागीदार- फाइजर ने भारत को कोविड-19 के इलाज के लिए सात करोड़ डॉलर की दवा दान की

फाइजर ने दान की दवा

फाइजर ने दान की दवा

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की चर्चाएं पूरी दुनिया में चल रही हैं। कई देशों ने तो भारत को इस बीमारी से लड़ने में सहयोग भी किया है। इसी क्रम में अब वैश्विक दवा विनिर्माता फाइजर (Pfizer) के चेयरमैन और सीईओ अल्बर्ट बूर्ला (Albert Bourla) ने कहा कि कंपनी अपने अमेरिका, यूरोप और एशिया स्थित वितरण केंद्रों से सात करोड़ डॉलर (करीब 510 करोड़ रुपये) की दवाएं भारत के लिए भेज रही है। उन्होंने फाइजर इंडिया (Pfizer India) के कर्मचारियों को भेजे मेल में कहा कि हम भारत में कोविड-19 (Covid-19) के हालात से अत्यधिक चिंतित हैं, और दिल से आपके, आपके प्रियजनों और भारत के सभी लोगों के साथ हैं।

उन्होंने यह मेल लिंक्डइन (LInkedin) पर पोस्ट किया है। बूर्ला ने कहा कि हम इस बीमारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में भागीदार बनने के लिए प्रतिबद्ध हैं और अपनी कंपनी के इतिहास में सबसे बड़ी मानवीय राहत के लिए तेजी से काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल अमेरिका, यूरोप और एशिया के वितरण केंद्रों में फाइजर के सहयोगी इन दवाओं को तेजी से भारत भेजने के लिए प्रयास कर रहे हैं। बूर्ला ने कहा कि हम ये दवाइयां दान कर रहे हैं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि देश के हर सार्वजनिक अस्पताल में प्रत्येक जरूरतमंद कोविड-19 रोगी को फाइजर की दवाएं मिल सकें। उन्होंने कहा कि सात करोड़ अमरीकी डालर से अधिक मूल्य की इन दवाओं को तुरंत उपलब्ध कराया जाएगा, और 'हम सरकार तथा अपने एनजीओ साझेदारों के साथ मिलकर काम करेंगे।'