महिलाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए यूपी सरकार की मुहिम, इस ऐप से हर महीने 4 हजार रुपये कमा सकती हैं महिलाएं, अलग से कमीशन भी

बैंकिंग करेस्पॉन्डेंट सखी योजना

बैंकिंग करेस्पॉन्डेंट सखी योजना

नई दिल्ली। वैसे तो इस समय पूरा देश ही कोरोना वायरस की चपेट में है। हालांकि अब कोरोना का ग्राफ कुछ कम हुआ है मगर स्थिति अब भी चिंता जनक बनी हुई है। इस कोरोना महामारी ने लोगों के अंदर बीमारी का डर तो पैदा किया ही हुआ है साथ ही बेरोजगारी का सदमा भी अनेक लोगों के दिल में है। ऐसे में राज्य सरकारें लोगों की मदद के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही हैं। हाल ही में अब उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (UP Government) ने भी महिलाओं के लिए एक खास योजना की शुरुआत की है। यूपी में रहने वाली महिलाओं के लिए इस कोरोना महामारी के बीच एक राहत भरी खबर है। अगर आप महिला है और उत्तर प्रदेश में रहती है तो आप राज्य सरकार की बैंकिंग करेस्पॉन्डेंट सखी योजना (Banking Correspondent Sakhi Yojana) के तहत हर महीने 4 हजार रुपये कमा सकती है।

बेबस महिलाओं के लिए काफी मददगार साबित हो रही है ये योजना

यह योजना उन महिलाओं के लिए है जो आर्थिक तौर से कमजोर है और उनके पास खुद का कोई कमाई का जरिया नही है इन महिलाओं के लिए ये ऐप काफी मददगार साबित हो रही है। इस योजना के जरिए महिलाएं बैंक एजेंट बनकर हर महीने 4 हजार रुपए तक पा सकती हैं। इतना ही नहीं यूपी सरकार की इस योजना के तहत उन्हें अतिरिक्त कमीशन हासिल करने समेत और भी कई सुविधाएं मिलती है।

पिछले साल मुख्यमंत्री ने की थी इस योजना की शुरुआत

यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से साल 2020 में शुरू की गई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इस स्कीम का ऐलान किया था। इस योजना के तहत गांव की महिलाएं बैंकों से जुड़कर पैसों का लेनदेन घर घर जाकर करवाएंगी। यह लेनदेन डिजिटल होगा। आज इस योजना से हजारों महिलाएं जुड़ चुकी हैं और इसका लाभ ले रही हैं। उन सब का कहना है ये काम हम एक सकारात्मक सोच के साथ करते है। ऊपर से ये हमारे लिए आसान सा लगता है।

गांव में रहने वाली महिलाओं को होगा अधिक फायदा

इस स्कीम का लाभ यूपी के ज्यादा गांवों में रहने वाली महिलाओं को होगा। कोई भी महिला दसवीं पास हो उन्हें ऑनलाइन चीजों की जानकारी हो। साथ ही बैंकिंग सेवाओं (Banking Services) में दिलचस्पी हो जिससे वो इस काम को आसानी से सीख और समझ सकें। योजना के तहत ये महिलाएं गांवों में लोगों को बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराएंगी। इन पर गांव के लोगों को बैंकिंग के लिए जागरूक करने की भी जिम्मेदारी होगी। जिससे कि इन सब के बारे में लोग और जाने इस योजना के तहत चुनी गई महिलाओं को 6 महीने तक हर महीने चार हजार रुपये की सैलरी मिलेगी। इसके अलावा लोगों को बैंकिंग ट्रांजेक्शन कराने के लिए इन्हें कमीशन भी मिलेगा। यह कमीशन ट्रांजेक्शन से जुड़ा होगा।