बंगाल में हुए हिंसा का भारतीय जनता पार्टी करेगी विरोध, 5 मई को होगा देशव्यापी प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के नतीजे सामने आने के बाद तृणमूल की भारी जीत हुई है. इसी के साथ टीएमसी के पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पिछले रविवार को कई स्थानों पर उत्पात मचाया और प्रदेश में कई जगह से राजनीतिक हिंसा होने की समाचार सामने आई है. भारतीय जनता पार्टी ने इस बात को लेकर तृणमूल पर विशेष तरह से आरोप लगाया है. भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि टीएमसी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने समसपुर, कुचबिहार, ओडिसापारा, पुरबा बर्धमान समेत कई स्थान पर हिंसा हुई वहीं हिंसा के साथ आरामबाग में भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर में आग भी लगा दी गई.

आपको बता दें भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर में लगी आग का विडियो भी तेजी से वायरल हो रहा है. किये गये इस हमले को लेकर भारतीय जनता पार्टी तृणमूल के कार्यकर्ताओं को पूर्ण रूप से जिम्मेदार ठहराया है. बंगाल में हुए इस हिंसा को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने पांच मई को देशव्यापी प्रदर्शन करने का घोषणा की है. इस देशव्यापी प्रदर्शन में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्त्ता अलग – अलग जिलों में धरना देने के साथ हिंसा का भी जबरजस्त विरोध करेंगे.

हिंसा के खिलाफ जो देशव्यापी प्रदर्शन सभी मंडलों में होगा उसमें कोरोना महामारी से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए विशेषरूप से पालन किया जायेगा.भारतीय जनता पार्टी ने टीएमसी पर आरोप लगाते हुए आगे कहा कि दक्षिण 24 परगना में जिन लोगों ने बीजेपी को वोट दिया था और जिन भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने पार्टी के चुनाव के लिए कार्य किया था उनके घरों को तोड़ दिया गया है. बंगाल में हुए हिंसा को लेकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बंगाल का दौरा करेंगें. वो कोलकाता के उन सभी जिलो में जायेंगे जहाँ भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ है. इसके साथ ही वो भारतीय जनता पार्टी के उस दफ्तर भी जायेंगे जहाँ आग लगा दिया गया था. इस बात की जानकारी पार्टी ने खुद ही ट्वीट के माध्यम से दी है.