कोरोना संकट से उभरने के लिए पीएम मोदी ने 54 जिलाधिकारियों को दिया खास मंत्र, कही ये बात

कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. हर दिन लाखो की संख्या में मरीज सामने आ रहे है. वही दूसरी तरफ मरने वालों के आंकड़ों में कमी नहीं आ रही है. जिस वजह से सरकार की चिंता बढ़ी हुई है. वही दूसरी तरफ गाँवों में भी हाल बेहाल हो रखा है और इसी वजह से बीते कुछ दिनों से पीएम मोदी लगातार देश के कई राज्यों के डीएम से सीधा संवाद कर रहे है.

वही आज पीएम मोदी ने 10 राज्यों के डीएम से बात की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना काल में नई चुनौतियों से निपटने के लिए नए समाधान की जरूरत है. साथ ही उन्होंने कहा कि ‘महामारी जैसी आपदा के सामने सबसे ज्यादा अहमियत हमारी संवेदनशीलता और हमारे हौंसले की ही होती है. इसी भावना से आपको जन-जन तक पहुंचकर, जैसे काम आप कर रहे हैं उन्हें और अधिक ताकत और अधिक पैमाने पर करते ही रहना है.’ इतना ही नहीं पीएम मोदी ने आगे कहा कि ‘आज परिस्थितियों ने आपको अपनी क्षमताओं की नई तरह से परीक्षा लेने का अवसर दिया है. अपने जिले की छोटी से छोटी दिक्कत को दूर करने के लिए पूरी संवेदनशीलता के साथ लोगों की समस्याओं का समाधान करने के लिए आपकी यही भावना आज काम आ रही है.’

साथ ही कहा कि ‘पिछली महामारियां हों या फिर ये समय, हर महामारी ने हमें एक बात सिखाई है. महामारी से डील करने के हमारे तौर-तरीकों में निरंतर बदलाव, निरंतर इन्नोवेशन बहुत जरूरी है. ये वायरस म्यूटेशन में और स्वरूप बदलने में माहिर है, तो हमारे तरीके और स्ट्रेटेजी भी डायनमिक होने चाहिए.’ जाहिर है कि कोरोना की दूसरी लहर देश में हाहाकार मचा रही है वही तीसरी लहर को लेकर अभी से देश में सतर्कता बरती जा रही है. ताकि कोरोना से स्थिति न बिगड़े. वही गाँवों में भी बिगड़ती स्थिति को संभाला जा सके.