किसान आन्दोलन के आज पुरे हुए 6 महीने, इसलिए किसान आज मना रहें हैं काला दिवस

देश जहां एक तरफ कोरोना जैसे घातक महामारी से लड़ रहा है वहीं किसान अपनी आन्दोलन को पूरी मजबूती के साथ बनाये हुए हैं. बता दें की किसान नए कृषि कानूनों को लेकर पिछले 6 महीने से आन्दोलन में लगा हुआ है और आज किसान आन्दोलन का 6 माह पूरा हो गया है. इस वजह से किसान आज काला दिवस मना रहें हैं. इसी काला दिवस के कारण आज एक बार फिर सयुंक्त किसान मोर्चा दिल्ली की सीमा पर एकत्रित हो रहें हैं.

इस तरह से ऐसा लग रहा है कि किसान आन्दोलन एक बार फिर अपना गति तेज कर रहा है. बता दें कि राकेश टिकैत का कहना है कि स्थितियों को देखते हुए अधिक आंदोलनकारी किसान को इकट्ठा नहीं किये गये हैं. बताते चले कि सयुंक्त किसान मोर्चा की तरफ से मनाया जा रहा आज का ये काला दिवस बस दिल्ली के बॉर्डर पर ही नहीं खत्म हो रहा है. ये काला दिवस पंजाब और हरियाणा जैसे कई और स्थानों पर भी इसका प्रभाव पड़ रहा है. किसान अपने घर के छतों पर और अपने वाहनों आड़ी पर काले झंडे लगा कर केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहें हैं.

किसान काला दिवस मनाने के साथ ही केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहें हैं इतना ही नहीं पंजाब के कई गाँवो में प्रधानमंत्री मोदी जी के पुतले भी जलाये जा रहें हैं. बता दें कि पंजाब के बरनाल नामक स्थान पर जो किसान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहें हैं उनका कहना है कि आज दिन 26 मई को राजधानी दिल्ली में किसान आन्दोलन को प्रारम्भ होने के 6 महीने पूरे हो चुके हैं और आज किसानों द्वारा इस दिन को काले दिन के रूप में मनाया जा रहा है.