घर और ऑफिस में बैठकर अगर आप भी AC में फरमा रहे हैं आराम तो हो जाइए सावधान, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

देश इस समय कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है. हर दिन हज़ारों लोगों की जान इस वायरस से जा रही है और लाखों लोग संक्रमित हो रहे हैं. हालाँकि राहत की बात ये है कि पिछले कई दिनों से कोरोना के नए मामलों में बड़ी गिरावट आ रही है. लोगों के बचाव के लिए सरकार एक के बाद एक बड़ा कदम उठा रही हैं. इसी बीच सरकार ने एक और नई एडवाइजरी जारी की है.

जानकारी के लिए बता दें अगर आप भी अपने घर या ऑफिस में AC बैठकर आराम फरमाते हैं तो सावधान हो जाइये. जी हाँ कोरोना से बचने के लिए सरकार की नई एडवाइजरी में कहा गया है कि कोरोना मरीज के खासने या छीकने से निकलने वाले एरोसोल हवा में 10 मीटर तक जा सकते हैं. ऐसे में लोग बंद कमरों के बजाय खुली और हवादार जगह में रहें जिससे वेंटीलेशन ठीक हो.

सरकार प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार विजय राघवन ने कहा है कि खुले घरों में संक्रमण का खतरा कम होता है. इस एडवाइजरी में घरों, दफ्तरों और सार्वजनिक स्थानों पर बाहरी हवा के आवागमन की सिफारिश की गई है. साथ ही कहा गया है कि घरों और ऑफिस में AC चलने की वजह से खिड़कियाँ और दरवाजे बंद रहते हैं जिससे संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है. बंद कमरे में बाहरी हवा का आवागमन नहीं हो पाता है जिससे संक्रमित हवा कमरे के अंदर ही रहती है.

गौरतलब है कि एडवाइजरी में कहा गया है कि अच्छे वेंटीलेशन से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में कोरोना फैलने का खतरा कम होता है. खिड़की खोलने या एगजोस्ट फैन चलाने पर गंध कम हो जाती है और संक्रमण फैलने का खतरा कम होता है. एडवाइजरी में कहा गया है कि AC के बजाय अभी पंखा ही चलायें और कमरे की खिड़की खुली रखें. जिससे वायु गुणवत्ता में सुधार हो सकता है और संक्रमण फैलने का खतरा नही होता है.