इस कोरोना काल के समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ये क्या कह गये राहुल गाँधी…

देश में एक तरफ कोरोना का कहर जारी है और एक तरफ राहुल गाँधी लगातार केन्द्र सरकार पर आरोप लगाने में लगे हुए हैं. राहुल गाँधी ऐसे तो हर समय प्रधानमंत्री को घेरने का कोई भी अवसर नहीं छोड़ते हैं और कोरोना नामक महामारी ने तो उन्हें काफी समय से मौका उपलब्ध करा रही है. बता दें कि देश में कोरोना महामारी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने बीते शुक्रवार को प्रेस वार्ता करने के दौरान कहा कि हमारे देश में कोविड नहीं मोविड फैला है.

उनके इस मोविड शब्द से यही पता चलता है कि राहुल गाँधी मोदी सरकार की तरफ इशारा कर रहें हैं. आगे उन्होंने अपनी बात समझाते हुए कहा कि अगर प्रधानमंत्री एक्शन लेते तो कोविड होता लेकिन प्रधानमंत्री ने अपने एक्शन से देश में कोरोना के लिए स्थान बना दिए. राहुल गाँधी ने पिछले लॉकडाउन की बात को याद करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री उपचार का प्रबन्ध करने के बजाय थाली बजाकर कोरोना को भगाने में लगे हुए थे. इसके बाद फिर पश्चिम बंगाल के चुनाव में बड़ी सभाएं करके पुरे देशभर में कोरोना के कहर को फैला दिया. राहुल गाँधी ने कहा कि इसी कारण इस कोरोना महामारी को मोविड कहना ज्यादा अच्छा होगा.

राहुल गाँधी ने आगे प्रधानमंत्री के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी को आज तक कोरोना समझ ही नहीं आया है. उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री जी को ये समझना चाहिए कि कोरोना सिर्फ बीमारी नहीं है, कोरोना एक स्वरूप बदलता हुआ बीमारी है. आप इन्हें जितना समय और जगह देंगें ये उतना ही खतरनाक होता चला जायेगा. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कोरोना की दूसरी लहर प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है. राहुल गाँधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जो देश के साथ नौटंकी की है और अपनी जिम्मेदारी पूरी नहीं की है इसी वजह से देश में कोरोना की दूसरी लहर आई है.