कोरोना महामारी से निपटने के लिए केन्द्र सरकार ने राज्यों के मदद के लिए जारी किये इतने करोड़ रूपए

आज पूरा देश कोरोना संक्रमण जैसी भयावह महामारी से लड़ रहा है. देश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है. आये दिन कोरोना का रिकॉर्ड टूटता ही जा रहा है. इस कोरोना नामक बीमारी ने हर जगह अपना आतंक फैला करके रखा है. हर कोई इस भयावह बीमारी के चपेट में आता हुआ नजर आ रहा है. देश में कोरोना संक्रमण के इस भयावह स्थिति के समय ही केन्द्र सरकार ने राज्यों की मदद के लिए खजाना खोल दिया है.

आपको बता दें कि इस बात की सुचना वित्त मंत्रालय ने शनिवार को दिया वर्ष 2021 – 22 के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष SDRF के केंद्रीय हिस्से की पहली किस्त 8873.6 करोड़ रूपए में जारी की गई है. केंद्र द्वारा दिए गये इस राशि का राज्य 50 प्रतिशत तक यानि करीब 4436.8 करोड़ रूपए का उपयोग कोरोना महामारी से बचाव के लिए कर सकता है. इसमें अस्पताल, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन के उत्पादन व एकत्रित संयंत्रों की लागत की पूर्ति करने के साथ ही एम्बुलेंस सेवाओं को मजबूत करने, टेस्टिंग सेंटर, थर्मल स्कैनर और टेस्टिंग किट भी शामिल हैं. आपको बता दें की राज्यों की मदद के लिए यह राशि 8873.6 करोड़ रूपए केन्द्रीय गृह मंत्रालय के सिफारिश पर जारी की गई है.

आपको बता दें कि हमेशा से ही एसडीआरएफ की पहली किस्त वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार जून के महीने में जारी की जाती है. लेकिन कोरोना महामारी के कारण इस बार यह पहले ही जारी कर दी गई है. पिआईबी की ओर से मिले जानकारी के मुताबिक एसडीआरएफ के लिए ये पैसे सामान्य प्रक्रिया में ढील देते हुए जारी कियें गयें हैं. यह राशि पिछले वित्तीय वर्ष में राज्यों को दी गई राशि के उपयोग के प्रमाण पत्र की प्रतीक्षा किये बिना भी जारी की गई है.