देश के लिए राहत की खबर, दुनिया के सबसे बड़े कार्गो प्लेन ने भारत में मदद पहुँचने के लिए भरी उड़ान

कोरोना के कारण पुरे देश में हाहाकार मचा हुआ है. देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर का कहर जारी है. कोरोना महामारी का शिकंजा निरंतर और कड़ा होता जा रहा है. तो इस समय में कोरोना महामारी के कारण आने वाली कठिन परिस्थित का अंदाजा लगाना बहुत ही कठिन है. हर ओर से दुःख से भरी हुई खबरें आ रहीं हैं. जिनका हम वर्णन भी नहीं कर सकते हैं. कोरोना के कारण आज हम हर प्रकार के किल्लत से जूझ रहे हैं. जैसे अस्पतालों में बेड, आईसीयू, वेंटिलेटर्स, जीवन रक्षक दवाएं और यहाँ तक कि ऑक्सीजन की आपूर्ति भी सीमित हो गई है और इन्ही सभी कमी को पूरा करने के लिए एक राहत भरी खबर आई है.

आपको बता दें कि कोरोना को मात देने के लिए भारत के मदद के लिए पूरी दुनिया का सबसे बड़ा मालवाहक विमान राहत का सामान लेकर नई दिल्ली के लिए उड़ान भर चूका है. जानकारी के मुताबिक पता चला है कि कार्गो विमान में 18 टन के तीन ऑक्सीजन जेनरेटर और एक हजार वेंटिलेटर हैं. ब्रिटिश सरकार ने साफ तौर पर कहा है कि कोरोना महामारी के इस संकट के समय में हम भारत के साथ खड़े है और हर संभव मदद उपलब्ध करायेंगें. दुनिया का सबसे बड़ा कार्गो विमान शुक्रवार को उत्तरी आयरलैंड से भारत के लिए उड़ान भर ली है.

ऑक्सीजन के जो जेनरेटर आ रहें हैं वो 18 टन का प्रत्येक ऑक्सीजन जेनरेटर एक मिनट में 500 लीटर ऑक्सीजन प्रोड्यूस करने की क्षमता रखता है. इस तरह से यह भारत में हो रहे ऑक्सीजन की कमी को ज्यादा से ज्यदा दूर कर देगा. विदेश राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय के मुताबिक हवाईअड्डे के कर्मियों द्वारा रातभर कड़ी मेहनत करते हुए विशालकाय एन्टोंनाव 124 विमान में जीवन रक्षक दवाएं भी लोड की जा सकीं हैं. आपको बता दें कि विदेश राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय ने इस आपूर्ति के लिए कोष प्रदान किया है. कार्गो विमान रविवार को सुबह आठ बजे दिल्ली पहुंचने का अनुमान है. इसके बाद भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी की मदद से यहाँ से आपूर्ति को मदद के लिए भेजा जायेगा.