देश में एक के बाद एक संकट दे रहा है दस्तक, कोरोना के साथ ब्लैक फंगस और फिर एक नई खतरनाक बीमारी आई सामने

इस समय देश कोरोना की दूसरी लहर के कारण युद्ध स्तरीय संकट के दौर से गुजर रहा है. प्रत्येक व्यक्ति अपने जिन्दगी को बचाने के प्रयास में लगा हुआ है. कोरोना नामक घातक महामारी से अभी हम लड़ ही रहे थे कि तभी इस ब्लैक फंगस नाम के बीमारी ने अपना आतंक शुरू कर दिया देश के कई राज्यों में इस बीमारी का संख्या बढ़ता ही जा रहा है. राजस्थान राज्य में तो इस ब्लैक फंगस नाम के बीमारी को महामारी घोषित कर दिया गया है. आपको बता दें कि अभी ब्लैक फंगस नाम के बीमारी के बारे में लोग पूर्ण रूप से जान भी नहीं पाए थे कि तभी व्हाइट फंगस नाम के बीमारी का सामने आना हैरान करने वाली बात है.

बता दें कि ये बीमारी देश के बिहार राज्य की राजधानी पटना में सामने आई है. पटना में व्हाइट फंगस के चार मरीज देखने को मिले हैं. इन व्हाइट फंगस के मरीजों में राजधानी पटना के एक फेमस स्पेस्लिस्ट भी संक्रमित हैं. ऐसा बताया जा रहा है कि ये बीमारी ब्लैक फंगस से भी अधिक खतरनाक है. व्हाइट फंगस नाम के इस नए बीमारी से फेफड़े संक्रमित हो रहे हैं और शरीर के दुसरे कई अंग जैसे नाख़ून, त्वचा, किडनी, पेट, मस्तिष्क, मुंह के अन्दर और शरीर का प्राइवेट पार्ट भी संक्रमित हो सकता है.

आपको बता दें कि व्हाइट फंगस नाम के नए बीमारी की जानकारी माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉक्टर एसएन सिंह ने दी है. हेड डॉक्टर एसएन सिंह ने बताया कि चार मरीजों में कोरोना जैसे लक्षण दिखयी दिए लेकिन उन मरीजों को कोरोना नहीं था. उनके सभी टेस्ट नेगेटिव आये थे. इसके बाद टेस्ट करवाने पर इस बात का पता चला कि वे व्हाइट फंगस से संक्रमित हैं. वहीं अच्छी खबर ये है कि एंटी फंगल दवा देने से ही चारो मरीज स्वस्थ हो गये हैं. डॉक्टर ने बताया कि व्हाइट फंगस का पता लगाने के लिए बलगम कल्चर की जाँच आवश्यक है.