बंगाल : नारदा घोटाले में ममता सरकार के मंत्रियों और विधायकों के घर सीबीआई की ताबड़तोड़ छापेमारी, सीबीआई ले गई…

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार एक बार फिर नारदा घोटाले की आंच में घिरती दिख रही है. ममता सरकार में मंत्री फिरहाद हकीम, कैबिनेट मंत्री सुब्रत मुखर्जी, पार्टी विधायक मदन मित्रा और पूर्व बीजेपी नेता सोवन चटर्जी के घर पर सीबीआई ने ताबड़तोड़ छापेमारी की. सीबीआई की टीम इन चारों को ही पूछताछ के लिए सीबीआई दफ्तर ले कर आई. इस घटना के बाद अब एक बार फिर बंगाल सरकार और केंद्र सरकार के बीच कटुता बढ़ सकती है.

फिरहाद हकीम ममता सरकार में परिवहन मंत्री हैं और कोलकाता नगर निगम के अध्यक्ष भी हैं. हकीम ने बताया कि उन्हें सीबीआई ने गिरफ्तार किया है जबकि सीबीआई ने गिरफ़्तारी के आरोपों से इनकार किया है. सीबीआई का कहना है कि उन सभी को सिर्फ पूछताछ के लिए सीबीआई दफ्तर लाया गया है. जिस वक़्त नारदा स्टिंग टेप सामने आया था उस वक़्त ये चारो नेता बंगाल सरकार में मंत्री थे. पिछले दिनों सीबीआई ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से नारद स्टिंग मामले में फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी, मदन मित्रा और सोवन चटर्जी के खिलाफ मुक़दमा चलाने की अनुमति मांगी थी और राज्यपाल ने अनुमति दे भी दी थी.

नारद स्टिंग टेप साल 2016 में सामने आया था जब ये चारो मंत्री थे. इस स्टिंग टेप में इन चरों नेताओं को कथित रूप से एक काल्पनिक कंपनी के प्रतिनिधियों से कैश लेते दिखाया गया था. ये स्टिंग नारदा न्यूज पोर्टल सामने ले कर आई थी. और इसे 2014 में रिकॉर्ड किया गया था. कलकत्ता हाई कोर्ट ने मार्च, 2017 में स्टिंग ऑपरेशन की सीबीआई जांच का आदेश दिया था.