कोरोना की दूसरी लहर के बीच भारत पहुंची रुसी वैक्सीन की पहली खेप, जानिए कितनी प्रभावी और क्या हो सकती है कीमत

देशभर में कोरोना की दूसरी लहर तेजी से पाँव पसारती जा रही है और हर दिन लाखों की संख्या में लोग इस वायरस से संक्रमित हो रहे हैं और सैंकड़ों लोग अपनी जान दे रहे हैं. ऐसा कोई दिन नहीं जा रहा था जब तीन लाख से ज्यादा मामले सामने न आ रहे थे लेकिन पिछले 24 घंटे में सभी रिकॉर्ड टूट गये और ये आंकड़ा 4 लाख पार कर गया. महाराष्ट्र के बाद देश की राजधानी दिल्ली और लखनऊ के हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें देश में कोरोना के बढ़ते मरीजों के चलते केंद्र सरकार ने 18 साल से बड़े लोगो को भी 1 मई से वैक्सीन लगाने का ऐलान कर दिया था. केंद्र सरकार के इस ऐलान के बाद ही कई राज्यों ने हाथ खड़े करते हुए ये कह दिया कि कृपया करके वैक्सीनेशन सेंटर पर 18 साल से ऊपर के लोग अभी लाइन नहीं लगायें क्योंकि उनके पास वैक्सीन की खुराक ही नहीं हैं. अब इसी बीच भारतवासियों के लिए बड़ी खबर आ रही है.

शनिवार को रूस ने अपना वादा निभाते हुए अपने देश की वैक्सीन की पहली खेप भारत भेज दी है. स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन की पहली खेप हैदराबाद पहुंच गई, साथ ही कहा जा रहा है कि टीकाकरण के तीसरे फेज में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है. अब तक भारत में दो ही वैक्सीन का वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा था जोकि कोविशील्ड और कोवैक्सीन थी.

गौरतलब है कि भारत में अचानक से फैले कोरोना के बाद रूसी प्रत्‍यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के एक अधिकारी ने उम्‍मीद जताई कि रूस की वैक्सीन भारत को कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने में मदद करेगी. वहीँ हम इस वैक्सीन के बारे में बात करें तो कहा जा रहा है कि रूसी टीके स्‍पूतनिक वी के तीसरे चरण के परीक्षण में यह 91.6 पर्सेंट प्रभावी साबित हुई है. इस वैक्सीन की कीमत को लेकर कंपनी ने कहा है कि इसकी एक डोज के लिए अधिकतक 750 रूपये खर्च करने पड़ सकते हैं. हालाँकि अभी तक इसकी कीमत का भारत में अधिकारिक रूप से कोई ऐलान नहीं हुआ है.