गंगा नदी में शव बहाने पर प्रशासन हुआ सख्त, दिया ये आदेश

देश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. कोरोना की दूसरी लहर बहुत ही तेजी से लोगों को संक्रमित कर रही है. कोरोना महामारी ने हमें बहुत ही बुरी तरह से तोड़ के रख दिया है. कोरोना ने चारो ओर कोहराम मचा के रखा है. हर ओर से हताश और निराशा से भरी खबरें ही सुनने को मिल रहीं है. कोरोना संक्रमण के वजह से मृतकों की संख्या भी बहुत ही तेजी से बढ़ रही है और इसी समय उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में गंगा नदी में लोग शवों को बहा दे रहें हैं.

गंगा नदी में बहती हुई शवों को लेकर जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दिए हैं. गंगा नदी में शव बहते देखकर वहां के नजदीक क्षेत्रों में रहने वालें लोगों में हड़कंप मच गया है. वहां के जिलाधिकारी एमपी सिंह ने बताया कि पेट्रोलिंग टीम बनाई है और अंतिम संस्कार के लिए लोगों को जागरूक कर रहें हैं. जिलाधिकारी एमपी सिंह ने कहा कि गंगा नदी में शव को बहाने पर रोक लगाई गई है. गंगा के सुरक्षा के लिए पुलिस और राजस्व टीम नदी के किनारों पर नाव से नजर रख रही है और इसी के साथ शमशान घाट पर भी निगरानी की जा रही है.

आगे उन्होंने कहा कि शव को लोग गंगा नदी में न बहायें इसकी निर्मलता और स्वच्छता बनाएं रखें. जिलाधिकारी एमपी सिंह ने लोगों से कहा कि आप लोग गंगा नदी में शव को न बहायें बल्कि शवों का दाह संस्कार करें. इसके साथ ही अगर कोई शव को जल में बहाता है तो इसकी सुचना हमें तुरंत मिलनी चाहिए. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अगर कोई गरीब है और वो व्यवस्था नहीं कर पा रहा है तो उसके लिए सरकारी मदद की जाएगी.