भारत में कोरोना को मात देने के लिए इस देश से आई वैक्सीन की दूसरी खेप

देश में कोरोना का कहर जारी है. कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर की तुलना में अधिक नुकसानदायक और मानवीय क्षति पहुंचा रही है. इस महामारी से देश की हालात चरमरा गई है. संक्रमण कुछ कम होने के बाद भी मौतों की संख्या में कमी नहीं आ रही है. जो बहुत ही चिंता करने वाली बात है. इस तरह से मौतों की कहर को रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीकाकरण की आवश्यकता है. लेकिन सुनने में ये आ रहा है कि देश में वैक्सीन की कमी हो रही है और इसी कमी को दूर करने के लिए रूस की स्पुतनिक वी का दूसरा खेप भारत पहुंच गया है.

आप को बता दें कि आज यानि रविवार को सुबह रूस से विमान स्पुतनिक वी वैक्सीन लेकर तेलंगाना के हैदराबाद के एयरपोर्ट पर पहुंच गया है. इस अवसर पर रूस के राजदूत एन. कुदाशेव ने कहा, स्पुतनिक वी की कामयाबी के बारे में पूरी दुनिया जानती है. उन्होंने बताया कि रूस में पिछले साल 2020 से ही लोगों को ये वैक्सीन लगाई जा रही है. रूस के विशेषज्ञयों का कहना है कि स्पुतनिक वी कोरोना के स्ट्रेन के खिलाफ भी कारगर है.

रूस के राजदूत एन. कुदाशेव ने आगे अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि रूस और भारत साथ मिलकर कोरोना से जंग लड़ रहें हैं. दोनों देश इस महामारी के संकट के समय में एक दुसरे की मदद कर रहें हैं. कोरोना महामारी को मात देने के लिए दोनों देश रूस और भारत एक दुसरे के साथ खड़े हैं. उन्होंने ये भी बताया कि रुसी वैक्सीन स्पुतनिक वी भारतीय- रुसी वैक्सीन है. उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि भारत में इसका प्रोडक्शन 85 करोड़ वैक्सीन प्रति वर्ष हो जायेगा. उन्होंने कहा कि हमारी योजना है की जल्द ही सिंगल डोज वैक्सीन भी लायी जाएगी.