प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुलाई बड़े अधिकारीयों की बैठक, बंगाल की खाड़ी से आ रहे ‘यास’ नाम के तूफान के तैयारियों की करेंगें समीक्षा

देश में कोरोना महामारी पहले से ही आतंक मचाया हुआ है. लेकिन पिछले कुछ दिनों से कोरोना महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप धीरे – धीरे मंद हो रहा था कि तभी तौकते नाम के तूफान ने आके देश में भारी तबाही मचा दिया और अब बंगाल की खाड़ी से यास नाम के तूफान की आने की जानकारी मिली है. आपको बता दें कि इस साइक्लोन यास नाम के तूफान को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानि रविवार को शीर्ष अधिकारीयों के साथ बैठक करने जा रहें हैं.

प्रधानमंत्री द्वारा किये गये इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह समेत कई अन्य मंत्री भी उपस्थित रहेंगे. प्रधानमंत्री अपनी इस बैठक में साइक्लोन यास तूफान के आने से होने वाली तबाही को ध्यान में रखते हुए तैयारियों की समीक्षा करेंगें. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बैठक में एनएमडीए, टेलीकॉम, पॉवर, सिविल एविएशन, अर्थ साइंसेज विभाग के सचिव भी उपस्थित रहेंगें और राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति एनसीएमसी की भी बैठक हुई है.

आपको बता दें कि बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान यास के 26 मई की शाम को पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के किनारों से टकराने की संभावना बतायी गई है. आईएमडी के अनुसार यास नाम के तूफान आने से 155 से लेकर 165 किलोमीटर प्रति घंटे तक की गति से हवा चलने के साथ ही कई राज्यों के किनारों पर स्थित जिलों में बहुत अधिक बारिश और तूफानी लहरें आने की संभावना बतायी गई है. इसी कारण तूफान से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक की है और तूफान से निपटने के लिए तैयारियाँ तेज कर दी गई हैं.