पंजाब कांग्रेस में नहीं थम रही कलह, सिद्धू ने कैप्टन के दलबदल के आरोप पर दी खुली चेतावनी जानिए क्या कहा

कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. पार्टी की एक मुसीबत थमती नहीं है कि दूसरी सामने आ जाती है. इन दिनों टूलकिट को लेकर कांग्रेस पार्टी की जमकर फ़जीहत हो रही है और भाजपा जमकर निशाना साध रही है. वहीँ कांग्रेस इस टूलकिट को गलत बता रही है. वहीँ इसी बीच पंजाब से बड़ी खबर आ रही है, इसे जानने के बाद राहुल गाँधी को बड़ा झटका लग सकता है.

जानकारी के लिए बता दें पंजाब में कांग्रेस पार्टी में आपसी कलह थमने का नाम नहीं ले रही है. राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच जुबानी जंग छिड़ गयी है. दोनों ही नेता एक दूसरे पर बड़े आरोप लगाते रहते हैं. पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं जिसको लेकर सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गयी है और कांग्रेस में आपस में ही कलह शुरू हो गयी है.

दरअसल पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आरोप लगाया कि सिद्धू दलबदल के चक्कर में हैं. उनके इन आरोपों के बाद सिद्धू ने कैप्टन को खुली चुनौती दे डाली है. उन्होंने कहा है कि वो उनपर लगाये जा रहे दलबदल के आरोप को साबित करके दिखाएं. दोनों ही नेताओं के बीच में शुरू से ही सब कुछ ठीक नहीं रहा है. साल 2019 में सिद्धू ने कैप्टन के कैबिनेट से इस्तीफा भी दे दिया था.

गौरतलब है कि अभी हाल ही में नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन के बीच मुलाकात भी हुई थी, जिसके बाद से ये कयास लगाये जाने लगे कि जल्द ही सिद्धू की कबिनेट में फिर से वापसी हो सकती है लेकिन ऐसा हुआ नहीं. दोनों ही नेता एक दूसरे पर जमकर जुबानी हमले बोल रहे हैं. सिद्धू ने दलबदल के आरोप पर कहा है कि उन्होंने कभी किसी पद के लिए बात नहीं की. उन्हें कई बार मंत्रिमंडल में शामिल होने का न्यौता भी मिला. साथ ही उन्होंने आगे कहा कि आप ऐसी एक भी बैठक के बारे में बताएं जिसमें मैं किसी अन्य पार्टी से मिला हूँ. उन्होंने कहा मैंने अब तक कोई पद नहीं माँगा मैं सिर्फ पंजाब की समृद्धि चाहता हूँ.