विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत को लेकर जारी की बड़ी चेतावनी, कहा अभी आ सकती हैं ऐसी और लहरें लेकिन करना होगा ये काम

देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर जमकर हाहाकार मचा रही है. ऐसा कोई दिन नही जा रहा है पिछले काफ़ी समय से जब हज़ारों की संख्या में लोग अपनी जान न दे रहे हों वहीं लाखों की संख्या में लोग अब भी संक्रमित हो रहे हैं. भारत में कोरोना की दूसरी लहर इस तरह हाहाकार मचाएगी ऐसा किसी ने सोचा नही होगा. अब बड़े बड़े वैज्ञानिकों का यही कहना है कि सरकार और जनता दोनों ही कोरोना को लेकर लापरवाह हो गये थे. जिसका ही ये परिणाम है.

जानकारी के लिए बता दें देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO ने एक बार फिर भारत को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की हैं जिन्हें हर किसी को समझना चाहिए. WHO ने कहा है कि भारत में ऐसे कई और लहर आ सकती हैं. इसी के साथ उन्होंने सरकार को भी आगाह किया है कि वो क्या करके इन लहरों से बच सकते हैं.

WHO ने कहा है कि सबकुछ इस बात पर निर्भर करेगा कि कितनी बड़ी आबादी को वैक्सीनेट कर लिया जाता है. उनका मानना है कि अगर ज्यादा आबादी का टीकाकरण कर लिया जाता है तो कोरोना की और लहरें ज्यादा असर नहीं दिखा पाएंगी. WHO की चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि कोरोना से जंग लड़ने के लिए भारत के लिए अगले 6-18 महीने काफी महत्वपूर्ण होंगे.

गौरतलब है कि डॉ. सौम्या ने आगे कहा है कि भारत को इन महीनों के दौरान ही टीकाकरण अभियान की रफ़्तार बढ़ाकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस वायरस से सुरक्षित करना होगा. उनका मानना है कि अगर सबकुछ सही रहा तो इस साल के अंत तक कोरोना के मामलों में कमी आना शुरू हो जायेगी. उन्होंने आगे कहा है कि इस साल के अंत तक भारत सहित दुनियाभर की 30 फीसदी आबादी वैक्सीनेट हो सकती है. अगर ऐसा हो जाता है तो ये बड़ी कामयाबी होगी.