बंगाल में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए सरकार ने लगाया इतने दिनों के लिए लॉकडाउन, लगायी सख्त पाबंदियां

बीते कुछ दिनों से देश में दुबारा से कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. हालात इस कदर ख़राब हुए है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत हो गयी है तो कही पर बेड्स की कमी आ गयी है और इस वजह से स्थिति काफी भयंकर हो गयी है. जिस वजह से केंद्र और राज्य सरकारें लगातार सख्ती बढ़ती जा रही है. वही दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल में भी कोरोना का कहर हाहाकार मचा रहा है और इस वजह से अब पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन लगाये जाने की घोषणा कर दी गयी है. जानकारी के लिए बता दें कि मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं. जिसके अनुसार बंगाल में 16 मई से 30 मई तक लॉकडाउन रहेगा. हालाँकि जरुरी सेवाए इस दौरान चालू रहेंगी.

जबकि प्राइवेट ऑफिस, स्कूल-कॉलेज सब बंद रहेंगे और फल-सब्जी और राशन की दुकानें भी सुबह 7 बजे से 10 बजे तक ही खुली रहेंगी. साथ ही रात के 9 बजे से सुबह के 5 बजे तक लोगों के बाहर निकलने पर पाबन्दी रहेंगी. इसके अलावा बता दें कि सभी प्राइवेट ऑफिस, स्कूल, कॉलेज बंद रहेंगे. साथ ही राजनीतिक, सांस्कृतिक और धार्मिक गतिविधियों पर भी रोक रहेगी. जरूरी सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी तरह की इंडस्ट्रीज-फैक्ट्रीज बंद रहेंगी. वही जरूरी सेवाओं में लगे ट्रक या गुड्स व्हीकल को छोड़कर बाकी सभी ट्रकों के मूवमेंट पर रोक रहेगी.

इसके अलावा एमरजेंसी के अलावा प्राइवेट कार, टैक्सी, ऑटो नहीं चलेंगे साथ ही लोकल ट्रेन, मेट्रो सर्विस, बस सर्विस, ट्रेन सर्विस बंद रहेगी. इसके अलावा बता दें कि बैंक सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक चालू रहेंगे और शादियों में 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोग शामिल हो सकेंगे. जाहिर है कि बंगाल में 15 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाया गया है. ताकि कोरोना की चेन को तोडा जा सके.