आजम की बिगड़ी सेहत को लेकर सपा नेता रामगोपाल यादव ने योगी सरकार को दी ‘बद्दुआएं’, तो लोगों ने लगा दी क्लास

सीतापुर जेल में बंद पूर्व मंत्री और सपा सांसद आजम खान की अभी हाल ही में कुछ दिन पहले कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. जिसके बाद से ही उनका इलाज चल रहा था. रविवार को जेल में अचानक से उनकी तबियत बिगड़ गयी, जिसके बाद उन्हें और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम को सीतापुर जेल से लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. मेदांता अस्पताल में आजम खान की हालत नाजुक बनी हुई है.

जानकारी के लिए बता दें आज़म खान का ऑक्सीजन लेवल डाउन हो गया है जिसके चलते उन्हें ICU में रखा गया है. कहा जा रहा है कि उनके फेफड़ों में संक्रमण बना हुआ है इसी वजह से वो ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं. आज़म खान की बिगड़ी सेहत को लेकर राज्यसभा सांसद रामगोपाल यादव ने योगी सरकार को बद्दुआ दी और उनके स्वास्थ्य के लिए प्रदेश सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया लेकिन उन्हें ये सब कहना भारी पड़ जाएगा ऐसा उन्होंने सोचा भी नही होगा.

दरअसल रामगोपाल यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘यूपी में निकृष्टतम शासकों का राज्य है। जिस तरह से आज़म साहब को अकारण जेल में रखकर इलाज तक की अनुमति नहीं दी गयी वह नीचता की पराकाष्ठा है। ऐसे लोग नरक गामी होंगे ये मेरे जैसे लाखों लोगों की बद दुआएँ हैं.’ उनके इस ट्वीट के बाद लोगों ने उनकी जमकर क्लास लगाई.

इस यूज़र ने लिखा है कि ट्विटर पर ही राजनीति करते रहना सरकार भी ट्विटर पर बना लेना क्यों पार्टी का सत्यानाश कर रहे हो. जनता के बीच आकर संघर्ष करो.

इस शख़्स ने लिखा है कि आपको प्रोफ़ेसर बोलने में शर्म नही आती है परिवारवाद का घोंचू

इस शख्स ने लिखा है कि इसका मतलब न्याय प्रणाली भी निकिस्ट है। इसमें सरकार का कोई सरोकार नही है प्रोफेसर साहब। इस तरह के वाक्य प्रोफेसर शब्द की तौहीन करते हैं। कृपया आपनी इज़्ज़त मत कीजिये लेकिन गरिमामयी शब्द प्रोफेसर का इज़्ज़त बचा के रखिये।