कोरोना पर लगातार मोदी सरकार को घेर रही कांग्रेस पार्टी को कपिल सिब्बल ने दी नसीहत, जानिए क्या कहा

भारत इस समय बुरे दौर से गुजर रहा है. कोरोना की दूसरी लहर ने देश में जमकर हाहाकार मचाया है. किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि देश में दूसरी लहर इस तरह तांडव मचाएगी. ऐसा कोई दिन नही जा रहा है जब पूरे देश में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए मामले सामने नहीं आ रहे हों और हजारों लोग अपनी जान न दे रहे हैं. ऐसी स्थिति में भी विपक्षी दल राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे हैं और सरकार को घेरने में लगे हुए हैं.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारें एक के बाद एक बड़ा कदम उठा रही हैं. वहीँ कोरोना से निपटने के चलते ही अब भाजपा और कांग्रेस में जुबानी जंग छिड़ गई है. कोरोना के चलते कांग्रेस पार्टी पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और विपक्षी दलों की सलाह न मानने के चलते लगातार सरकार पर निशाना साध रही है.

दरअसल कांग्रेस ने मंगलवार को भाजपा पर घमंडी होने तक का आरोप लगा दिया. जिसके तुरंत बाद ही राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी को पत्र लिखकर कहा कि मुद्दों को उठाना और महामारी पर सरकार को सुझाव देना विपक्षी दलों का कर्तव्य है. नड्डा ने सोनिया गांधी को भेजे गये पत्र में उनकी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा महामारी के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी सहित कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के आचरण को दोहरापन और क्षुद्रता’ के लिए याद किया जाएगा.

गौरतलब है कि कांग्रेस और भाजपा में कोरोना के चलते चल रही जुबानी जंग के बीच कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने अपनी पार्टी को नसीहत दी है. बुधवार को सिब्बल ने कहा है कि ये समय साथ खड़े होने का है आलोचना करने का नहीं. सिब्बल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘स्टैंड टुगेदर इंडिया, यह साथ खड़े होने का समय है, ना कि आलोचना करने का. जब हम इस लड़ाई को जीत लेंगे, उसके बाद पता लगा लेंगे की कौन सही है और कौन गलत.’