व्हाट्सएप्प ने भारत सरकार पर किया केस, दिल्ली हाईकोर्ट में दायर की गई याचिका

सोशल मीडिया का एक बड़ा प्लेटफार्म व्हाट्सएप है. जो भारत में बहुत ही अधिक प्रयोग किया जाता है. भारत में आज हर व्यक्ति जो स्मार्ट फोन रखता है उसके पास तो ये एप्प रहना बहुत ही आम बात है. लेकिन अभी खबरों के अनुसार आपको बता दें कि व्हाट्सएप्प ने भारत सरकार के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया है. व्हाट्सएप्प ने अपने दायर किये गए मुकदमें में नए नियमों पर रोक लगाने की मांग की है.

व्हाट्सएप्प ने भारत सरकार के खिलाफ यह मुकदमा दिल्ली हाईकोर्ट में दायर किया है. जानकारी के अनुसार कल यानि बीते 25 मई को अपनी याचिका दाखिल करने के बाद कंपनी ने हाईकोर्ट में अपनी बात कही है. व्हाट्सएप का कहना है कि प्राइवेसी का हनन है ये नया नियम. व्हाट्सएप्प ने अपने याचिका में कहा है कि भारत सरकार के नए नियम संविधान में वर्णित निजता के अधिकार का हनन करते हैं. आगे उसका कहना है कि भारत सरकार के नए IT नियमों से प्राइवेसी एकदम से खत्म हो जायेगी.

व्हाट्सएप्प कंपनी ने दावा करते हुए अपनी बात बताते हुए कहा कि व्हाट्सएप्प बस उन लोगों के लिए नियमन चाहता है जो इस प्लेटफार्म का गलत प्रयोग करते हैं और इसी के साथ ये कहा गया है कि व्हाट्सएप्प के मैसेज एनक्रिप्ट किये गये हैं. इस तरह से लोगों की चैट मैसेज पर पूरी तरह से नजर रखा जा रहा है. जो व्हाट्सएप्प का प्रयोग करने वाले व्यक्ति की गुप्त बातों को गुप्त नहीं रहने दिया जा रहा है. नए नियम में सोशल मीडिया कम्पनियों को कोई भी कंटेंट या फिर मैसेज सबसे पहले कहां से जारी किया गया, इसकी पहचान करने की जरूरत होती है अगर कभी भी इसके बारे में जानकारी मांगी जाये. लेकिन अभी इस बात की पुष्टि नहीं है कि दिल्ली हाईकोर्ट में दायर इस याचिका पर समीक्षा की हा सकती है या नहीं.