कोरोना को मात देने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने उठाया बड़ा कदम, वैक्सीन की कमी हो जाएगी खत्म

आज पूरा देश कोरोना महामारी से त्रस्त है. आज देश कोरोना की दूसरी लहर के कारण युद्ध स्तरीय संकट के दौर से गुजर रहा है. कोरोना के बढ़ते मामलों ने हर किसी को परेशान कर दिया है. कोरोना वायरस की वजह से लोग घरों में कैद हो गयें हैं. इस महामारी से हम किसी तरह से निपटने का प्रयास कर रहें हैं. कोरोना जैसे घातक महामारी से निपटने के लिए हमारी एक मात्र उम्मीद वैक्सीन है और देश में इस वजह से वैक्सीन की कमी अधिक सुनाई दे रही है. इसी वैक्सीन की कमी को दूर करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने कदम उठाया है.

महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने टीके के लिए ग्लोबल टेंडर निकाला है. महाराष्ट्र सरकार पूरी तरह से प्रयासरत है कि राज्य में अधिक से अधिक पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध किया जा सके. महाराष्ट्र सरकार द्वारा निकाले गये इस ग्लोबल टेंडर में फाइजर और मॉडर्ना जैसी विश्व स्तरीय वैक्सीन निर्माता कम्पनियां भी शामिल हो सकेंगी. आपको बता दें कि महाराष्ट्र सरकार अन्तर्राष्ट्रीय मार्केट में 5 करोड़ वैक्सीन की खुराक खरीदेगी और टेंडर के लिए 8 दिनों का समय दिया गया है.

केन्द्र सरकार द्वारा मिले वैक्सीन आयात की मंजूरी के बाद राज्य सरकार की तरफ से टेंडर निकाला गया है. महाराष्ट्र सरकार द्वारा निकाले गये इस टेंडर में कुछ जानकारियां मांगी गई हैं. जैसे वैक्सीन निर्माता टीका की कितनी खुराक देगा और वैक्सीन हमें कितने दिनों में उपलब्ध होगी. वैक्सीन की कीमत क्या होगी. आपको बता दें कि बीएमसी महानगरपालिका ने पहले ही वैक्सीन खरीदने के लिए ग्लोबल टेंडर निकाल चूका है. आपको बता दें कि कोरोना वायरस को मात देंने के लिए हमारे पास मात्र एक ही उपाय है वो है अधिक से अधिक टीकाकरण किया जाना.