कोरोना को लेकर चल रही हाईलेवल की मीटिंग में पीएम मोदी क्यों हुए नाराज, जानिए

देशभर में कोरोना से हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं. कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप पूरे देश में बरकरार है. ऐसा कोई दिन नही जा रहा है जब लाखों की संख्या में कोरोना के नए मामले सामने नही आ रहे हों और हज़ारों लोग अपनी जान न दे रहे हों जबकि कई राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना को लेकर PM मोदी ने हाईलेवल की बैठक बुलाई और कोरोना के हालात का जायज़ा लिया. PM मोदी की इस बैठक में उनके अलावा कई विभिन्न मंत्रालयों के अधिकारी शामिल हुए. PM मोदी ने बैठक़ में गांव गांव और घर घर जाकर सर्वे और टेस्ट कराने की बात कही.

PM मोदी की चल रही हाईलेवल की मीटिंग में कुछ ऐसा भी हुआ कि उन्हें ग़ुस्सा आ गयी. जी हाँ PM मोदी ने वेंटीलेटरों के इस्तेमाल न होने के चलते नाराज़गी ज़ाहिर की. अस्पतालों में वेंटिलेटर का इस्तेमाल ठीक से नहीं हो पा रहा है जिसके चलते उन्होंने नाराजगी जाहिर की. वहीं बैठक़ में मौजूद सभी अधिकारियों ने मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी दी.

ग़ौरतलब है कि बैठक़ में PM मोदी को इस बात की भी जानकारी दी गयी कि स्वास्थ्य कर्मियों, केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा उठाए गए कदमों से अब मामले कम आ रहे हैं. PM मोदी ने कहा ख़ासकर उन राज्यों के लिए स्थानीय नियंत्रण रणनीति समय की ज़रूरत है जहां TPR अधिक है.उन्होंने RTPCR और रैपिड टेस्ट दोनों के उपयोग के साथ सकारात्मकता दर वाले क्षेत्रों में परीक्षण बढ़ाने के आदेश दिए हैं.