यूपी में अब होम आइसोलेट होने को लेकर जारी हुई नई गाइडलाइंस, अब चीजें होंगी तभी..

देश में कोरोना का क़हर बरकरार है. कई राज्यों में चल रहे लॉकडाउन के बाद राहत भरी खबरें आती दिख रही हैं. दिल्ली यूपी और महाराष्ट्र में लगातार नए मामलों में कमी आ रही है. यूपी में गांवों में फैले संक्रमण को रोकने के लिए योगी सरकार ने एक के बाद एक बड़े कदम उठाए हैं.

जानकारी के लिए बता दें यूपी में भी पिछले काफ़ी समय से लॉकडाउन चल रहा है. जिसके चलते कोरोना के ग्राफ़ में कमी देखने को मिल रही है. इसी बीच एक बड़ी ख़बर यूपी से आ रही है जिसे जानना हर किसी के लिए आवश्यक है. जी हां यूपी में कोरोना के चलते सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी कर दी है.

दरअसल यूपी में कोरोना के संक्रमण के बाद लोग अस्पताल में भर्ती होने के साथ साथ होम आइसोलेट होकर संक्रमण से बचने में लगे हुए हैं. होम आइसोलेट संक्रमितों को सही समय पर मेडिकल उपकरण या अन्य ज़रूरी सुविधाएँ नही मिल पाती हैं. ऐसे में सरकार ने बड़ा फ़ैसला लिया है.

ग़ौरतलब है लखनऊ के प्रभारी अधिकारी रोशन जैकेब ने बैठक के बाद निर्देश दिए हैं कि होम आइसोलेशन वाले मरीज़ों पर थर्मामीटर और पल्स ऑक्सीमीटर जैसे मेडिकल उपकरण होना आवश्यक है. साथ ही संक्रमित व्यक्ति के लिए एक होम आइसोलेशन में एक अलग से रूम और शौचालय होना ज़रूरी है. अगर ये चीज़ें संक्रमित के पास नही हैं तो उसे होम आइसोलेशन की जगह संस्थागत आइसोलेशन का ही विकल्प दिया जाएगा.