टाक्टे तूफान ने मचाया हाहाकार, महाराष्ट्र और गुजरात में चक्रवात का कहर जारी

कोरोना के कहर से अभी हमारा संघर्ष जारी ही है कि तभी इस टाक्टे नाम का चक्रवात तूफान देश के पश्चिमी राज्यों में बहुत अधिक क्षति पहुँचा रहा है. चक्रवात टाक्टे बीते सोमवार देर रात को गुजरात के तट से टकरा गया. इस समय 185 किलोमीटर से लेकर 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलती रहीं. आपको बता दें कि इससे पहले इस समुद्री तूफान ने दिन भर महाराष्ट्र के कई जिलों में तबाही मचा दी है. मुंबई, थाणे, रायगढ़ और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण जनजीवन बुरी तरह से अस्तव्यस्त हो रहा है.

महाराष्ट्र के अधिकारीयों ने बताया कि कोंकण क्षेत्र में तूफान के कारण 7 लोगों की मृत्यु हो गई है. चार लोगों की मौत रायगढ़ जिले में हुई, एक नाविक की मौत सिंधुदुर्ग जिले में और थाणे जिले के नई मुंबई और उल्हासनगर में दो लोगों की मौत पेड़ गिरने से हुई है. अधिकरियों के दिए गये बयान के मुताबिक पता चला है कि सिंधुदुर्ग जिले के आनंदवाड़ी बंदरगाह में लंगर डाले में दो नैकायें डूब गई जिन पर सात नाविक सवार थे.

आपको बता दें कि अत्यंत गम्भीर समुद्री तूफान ताउ – ते के खतरे को देखते हुए गुजरात में दो लाख लोगों को वहां से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल की 54 समूहों को तैनाथ किया गया है. भारतीय मौसम विभाग के अनुसार गुजरात में इस चक्रवात से पुरे 14 जिले प्रभावित हुए हैं. इस तूफान में कई घर क्षतिग्रस्त हो गये हैं. कई जगह पर पेड़ उखड़ने और बिजली के खम्भे गिरने से संचार सेवाएं व बिजली की आपूर्ति लड़खड़ा गई है.