नेपाल के अयोध्यापुरी में होगा भगवान राम मंदिर का निर्माण, ओली सरकार ने आवंटित की धनराशि

भारत और नेपाल के बीच बीते कुछ समय से तनाव बना हुआ है. जिसकी वजह से दोनों के रिश्तों में खटास भी आ गयी है लेकिन इस सब के बाद भी नेपाल के प्रधानमंत्री अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे है और इसी वजह से एक बार फिर से उन्होंने कुछ ऐसा किया है. जिसकी वजह से भारत और नेपाल के रिश्तों में दरार आ सकती है.

दरअसल जहाँ एक तरफ नेपाल में ओली सरकार में सियासी ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. वही अब ओली सरकार ने प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर की मरम्मत के लिए 35 करोड़ रुपये और अयोध्यापुरी में भगवान राम के मंदिर के निर्माण के लिए धनराशि आवंटित की है. बता दें कि यह धनराशि देश के लिए प्रस्तावित 1647.67 अरब रुपये के बजट में से आवंटित की गई है. दरअसल पता हो कि कुछ समय पहले नेपाली पीएम ने भारत के खिलाफ बयान देते हुए कहा था कि भगवान राम की नगरी नेपाल में है और भगवान राम नेपाल के है. जिस पर काफी सियासी बवाल छिड़ गया था.

वही नेपाल के वित्त मंत्री बिष्णु पौडयाल ने शुक्रवार को घोषणा करते हुए कहा कि यूनेस्को के विरासत स्थलों की सूची में शामिल पशुपतिनाथ मंदिर की मरम्मत के लिए 35 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं.इसके अलावा चितवन जिले के अयोध्यापुरी में भगवान राम के मंदिर के निर्माण के लिए भी बजटीय आवंटन किया गया है. हालाँकि इसके लिए कितनी धनराशि आवंटित की गई है. इसका खुलासा उन्होंने नहीं किया है. जाहिर है राम मंदिर के निर्माण को लेकर एक बार फिर से दोनों देशों के बीच विवाद छिड़ सकता है.