यूपी पंचायत चुनाव के नतीजों ने भाजपा के उड़ाए होश : काशी, मथुरा और अयोध्या में पार्टी का हाल जान आप भी चौंक जायेंगे

उत्तर प्रदेश में हुए पंचायत चुनावों को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों का सेमीफाइनल माना जा रहा था. लेकिन ये सेमीफाइनल बीजेपी और सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए झटके पर झटके ले कर आया. भाजपा को समाजवादी पार्टी से कड़ी टक्कर का सामना करना पड़ रहा है. यही नहीं, काशी, मथुरा और अयोध्या में तो भाजपा का सूपड़ा साफ़ हो गया है. अयोध्या में तो राम मंदिर शिलान्यास का भी कोई फायदा नहीं मिला भाजपा को.

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी बीजेपी का बहुत ही बुरा हाल रहा. वाराणसी में जिला पंचायत की 40 में से महज 8 सीटें ही बीजेपी के खाते में आई हैं. जबकि 14 सीटों पर समाजवादी पार्टी ने कब्ज़ा जमाया. वाराणसी में 5 सीटें बहुजन समाज पार्टी को, 3 सीटें अपना दल को, 3 सीटें निर्दलीय को और एक सीट पर आम आदमी पार्टी को सफलता मिली.

कृष्ण की नगरी मथुरा में भी बीजेपी का हाल बुरा रहा. यहाँ RLD और BSP ने सबको चौंका दिया. मथुरा में बीएसपी को 12 सीटें, RLD को 9 सीटें और भाजपा को 8 सीटें मिली. समाजवादी पार्टी भी एक सीट हासिल करने में कामयाब रही जबकि कांग्रेस का तो यानं खाता भी नहीं खुला. राम की नगरी अयोध्या में तो समाजवादी पार्टी ने बीजेपी के होश उड़ा दिए. अयोध्या में जिला पंचायत की 40 सीटों में से 24 पर समाजवादी पार्टी ने जीत दर्ज की है. जबकि बीजेपी के खाते में महज 6 सीटें ही आईं.

2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के लिए ये पंचायत चुनाव बहुत बड़ा झटका है. पश्चिमी यूपी में चल रहे किसान आंदोलन की वजह से अटकलें तो लगाई जा रही थी कि इन इलाकों में भाजपा को नुकसान होगा लेकिन जिस तरह से पूर्वांचल में पार्टी को झटके लगे हैं इसके लिए पार्टी तैयार नहीं थी.