राहुल गाँधी ने कांग्रेस में जिसे किया था अनदेखा अब वही बनने जा रहे हैं असम में बीजेपी के मुख्यमंत्री

असम में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा को दूसरी बार जीत मिली है. भाजपा ने राज्य में दमदार प्रदर्शन करके पूर्ण बहुमत हासिल कर सत्ता में वापसी की है. वहीं असम में मुख्यमंत्री बनने को लेकर सस्पेंस चल रहा था. शनिवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर हाईकमान की मीटिंग हुई थी, जिसमें मुख्यमंत्री बनाने को लेकर चर्चा हुई थी.

जानकारी के लिए बता दें असम में अब मुख्यमंत्री को लेकर सस्पेंस ख़त्म हो गया है. हाईकमान ने हेमंत बिस्वा सरमा को असम का मुख्यमंत्री बनाने का फ़ैसला लिया है. इससे पहले असम में सर्बानंद सोनोवाल को सत्ता सौंपी गयी थी. उन्हें केंद्र से असम भेजा गया था. वहीं आज हम आपको हेमंत बिस्वा से जुड़ी कुछ बातें बताने जा रहे हैं जिससे आप भी अनजान होगे.

हेमंत बिस्वा सरमा ने साल 2015 में राहुल गांधी पर अनदेखी का आरोप लगाते हुए कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामा था और अब वो असम में भाजपा के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. सरमा ने कहा था कि जब वो राहुल गांधी से मिलने गए थे तो उनका ध्यान मुझसे ज़्यादा अपने कुत्ते पर था. एक समय था जब सरमा कांग्रेस नेता तरुण गोगोई के मुख्यमंत्री काल में उनके करीबी हुआ करते थे.

ग़ौरतलब है कि अब हेमंत बिस्वा सरमा असम में भाजपा के सबसे ताकतवर नेता माने जाते हैं. असम में 126 विधानसभा सीटों में से अकेले भाजपा ने 75 सीटों पर जीत हासिल करके विपक्षी दलों को बड़ा झटका दिया है. वहीं हेमंत बिस्वा सरमा ने ज़लुकबाड़ी सीट से लगातार पांचवीं बार जीत हासिल की है.